On The Debate On The Yogi Model In Karnataka Union Minister Says Fear Should Be Among Criminals | Yogi Model: कर्नाटक में योगी मॉडल की बहस पर बोले केंद्रीय मंत्री


Yogi Model Remarks Row: केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर (Kaushal Kishore) ने शनिवार को जोर देकर कहा कि अपराधियों के मन में कानून का डर पैदा होना चाहिए. उन्होंने कर्नाटक (Karnataka) में अशांति फैलाने वाले तत्वों के खिलाफ उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की बीजेपी सरकार (BJP Govt) का ‘योगी मॉडल’ (Yogi Model) अपनाने की जरूरत को लेकर जारी बहस के सिलसिले में यह बात कही. किशोर ने कहा, ‘‘मैं मुठभेड़ के सिलसिले में यह बात नहीं कह रहा हूं कि किसी भी व्यक्ति को पकड़कर जान से मार दिया जाए, लेकिन ऐसे अपराधी जो पुलिस पर भी गोली चलाते हैं और बदले में पुलिस गोली चलाती है, तो ऐसे में वे लोग (अपराधी) मुठभेड़ में मारे जाते हैं.’

केंद्र सरकार में आवासन और शहरी कार्यों के विभाग के राज्यमंत्री किशोर, उत्तर प्रदेश के मोहनलालगंज क्षेत्र की लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जो दूसरों की जिंदगी छीनते हैं, उन्हें जीने का कोई अधिकार नियमानुसार तो नहीं होना चाहिए. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अदालत भी हत्या के कई मामलों में गवाही के आधार पर ऐसे लोगों को फांसी की सजा सुनाती है. किशोर ने कहा कि अपराध रोकने के लिए कानून का सख्ती से पालन होना जरूरी है और अपराधियों के मन में कानून का डर पैदा होना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि अपराधियों की जगह जेल में है. गौरतलब है कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बृहस्पतिवार को कहा था कि अगर हालात की मांग हुई, तो राज्य में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे राष्ट्रविरोधी और सांप्रदायिक तत्वों से निपटने के लिए ‘योगी मॉडल’ अपनाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- China Vs America: टेंशन में चीनी राष्ट्रपति! बोले- राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में बढ़ती अस्थिरता-अनिश्चितता का सामना कर रहा देश

योगी मॉडल की हो रही बात

दक्षिण कन्नड़ जिले में भारतीय जनता युवा मोर्चा के एक सदस्य की हत्या के बाद बीजेपी और संघ परिवार (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उससे जुड़े संगठन) के कुछ घटकों द्वारा कर्नाटक में सरकार का ‘ योगी मॉडल’ लागू करने की मांग की जा रही है. सार्वजनिक मंचों पर नशामुक्ति की हमेशा पैरवी करने वाले किशोर ने इंदौर में मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि वह देश भर में शराब की दुकानें बंद कराने के पक्ष में नहीं हैं, लेकिन उनकी कोशिश है कि लोगों को हर तरह के नशे से दूर रखने के लिए बड़ा जन आंदोलन शुरू किया जाए. उन्होंने याद दिलाया कि शराबबंदी वाले राज्यों-गुजरात और बिहार में जहरीली शराब पीने से हाल ही में कुछ लोगों की मौत हुई है.

यह भी पढ़ें- Pakistan News: मनी लांड्रिंग के मामले में पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ को कोर्ट ने किया तलब, 7 सितंबर को होगी पेशी

 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.