IAS क्या है और कैसे बने ? IAS full form in hindi

IAS full form in hindi
IAS full form in hindi

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करने जा रहे हैं IAS full form in hindi, IAS kya hai, Ias kaise bane, आईएएस बनने के लिए योग्यता, आईएएस के एग्जाम की तैयारी कैसे करें आदि।

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो इस बात की जानकारी के लिए इंटरनेट में सर्च कर रहे हैं कि आई एस क्या है और आईएएस कैसे बने तो हमारा आप सबसे निवेदन है कि हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें क्योंकि इस पोस्ट में हमने IAS के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है।

जैसा कि हम सब जानते हैं कि हर छात्र का सपना होता है कि भविष्य में उसे एक अच्छी नौकरी मिले जिससे उसके और उसके माता-पिता का समाज में नाम रोशन हो सके और वह सफल और कामयाब इंसान बन सके। सिर्फ छात्र ही नहीं हर माता-पिता भी अपने बच्चे के भविष्य के बारे में सोचने लग जाते हैं कि बड़ा होकर हमारे बच्चे को डॉक्टर, IAS officer, आईपीएस ऑफिसर या इंजीनियर कैसे बनाएं।

एक IAS officer का पद काफी उच्च दर्जे का सरकारी पद होता है जिसकी समाज में काफी इज्जत और रुतबा होता है। पर क्या आईएएस ऑफिसर बनना आसान है? जी नहीं आईएएस ऑफिसर बनने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और हर साल लाखों की तादात में छात्र इसकी परीक्षा देते हैं पर कुछ भी छात्र हैं जो सफल हो पाते हैं।

तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं IAS full form in hindi क्या है?

यह भी पढ़े :- कैसे बने आईपीएस: IPS full form

क्या है आईएएस का फुल फॉर्म – IAS full form in hindi

IAS full form in hindi
IAS full form in hindi

IAS का full form in Hindi हैं “Indian administrative service” जिसे हम हिंदी में “भारतीय प्रशासनिक सेवा” के नाम से जानते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अखिल भारतीय सेवा मशीनरी के अंतर्गत हमारे भारत में तीन प्रमुख सेवाएं हैं :-

  1. IPS – Indian Police Service, भारतीय पुलिस सेवा.
  2. IAS – Indian administrative service, भारतीय प्रशासनिक सेवा.
  3. IFS – Indian forest service, भारतीय वन सेवा.

ऊपर बताए गए तीनों भारतीय प्रशासनिक सेवाओं के परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करना और उसमें नौकरी पाना काफी अधिक कठिन होता है पर इन तीनों में सबसे ज्यादा मुश्किल परीक्षा IAS की होती है और यही एक वजह है कि हर साल कई छात्र आईएएस बनने की इच्छा लेकर परीक्षा देते हैं पर वे सफल नहीं हो पाते हैं।

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए आपको कई सारे मुश्किल परीक्षाओं और इंटरव्यू का सामना करना पड़ता है और जो भी छात्र अपनी कड़ी मेहनत और लगन से इन सारी परीक्षाओं को सफलतापूर्वक पास करते हैं उन्हें आईएएस की ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है जिसके बाद उन्हें कई उच्च सरकारी पदों पर नियुक्त किया जाता है जैसे कि :-

  • डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर – District Collector.
  • डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट – District magistrate.
  • SDM

अब तक तो आप जान ही चुके होंगे कि IAS full form in hindi क्या है, चलिए अब आगे जान लेते हैं कि एक आईएएस अधिकारी की क्या जिम्मेदारियां होती है?

यह भी पढ़े :- क्या है ANM कोर्स. Full guide to ANM course in hindi

आईएएस अधिकारी की जिम्मेदारियां? Responsibilities of IAS Officer?

जैसा कि आप समझ ही गए होंगे कि आईएएस अधिकारी का पद काफी उच्च श्रेणी का पद होता है और अगर पद इतना महत्वपूर्ण है तो स्वाभाविक है कि जिम्मेदारियां भी काफी अधिक होंगी। तो चलिए एक IAS officer की कुछ प्रमुख जिम्मेदारियों को जान लेते हैं।

  1. किसी भी IAS officer की सबसे प्रमुख जिम्मेदारी है भारत सरकार की किसी भी नई नीति या पॉलिसी को अपने राज्य या अपने इलाके में सफलतापूर्वक लागू करवाना।
  2. अपने राज्य के मंत्रियों को विभिन्न मुद्दों पर सलाह मशवरा देना।
  3. अपने राज्य या जिस भी इलाके में वे पदस्थ हैं वहां पर कानून व्यवस्था को बनाए रखना।
  4. राजस्व एकत्र करना।
  5. राजस्व की विभिन्न मामलों में अदालतों के रूप में कार्य करना।
  6. राज्य के सार्वजनिक धन के नुकसान या हानि की निगरानी करना।

यह भी पढ़े :- BDO अफसर कैसे बने ?

आईएएस के लिए आयु सीमा – Age limit for IAS

आईएएस अधिकारी बनने के लिए आयु सीमा के सवाल को लेकर कई छात्र कंफ्यूज रहते हैं जिस वजह से हर साल कई छात्र IAS के लिए आवेदन नहीं भर पाते हैं। पर इस सवाल को लेकर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है।

हमने आपकी सुविधा के लिए हर वर्ग के हिसाब से आईएएस अधिकारी के आवेदन भरने की पूरी जानकारी यहां पर दी है। सबसे महत्वपूर्ण जानकारी – चाहे आप किसी भी वर्ग से हो अगर किसी भी छात्र या छात्रा की उम्र 21 साल से कम है तो वह IAS exam के योग्य नहीं है। पर भारत सरकार द्वारा विभिन्न वर्गों को अधिकतम आयु सीमा में कुछ छूट दी गई है जिसकी जानकारी हमने नीचे दी है।

Category, वर्गAge Limit
आयु सीमा
General category32 वर्ष 
SC / ST category37 वर्ष 
OBC category35 वर्ष 
Disability category42 वर्ष 
Defence category35 वर्ष 
आईएएस के लिए आयु सीमा – Age limit for IAS

एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए age limit की जानकारी को जानने के बाद चलिए अब आगे जान लेते हैं कि एक IAS अधिकारी बनने के लिए आप कितने बार परीक्षा दे सकते हैं।

यह भी पढ़े :- कैसे बने CA, क्या है CA का फुल फॉर्म?

कितनी बार दे सकते हैं आईएएस की परीक्षा – How many times can we give IAS exam?

IAS full form in hindi – जो भी छात्र भविष्य में एक सफल आईएएस अधिकारी बनने की इच्छा रखते हैं उन्हें सबसे पहले हर साल UPSC द्वारा गठित परीक्षाओं के लिए आवेदन भरना होता है। किसी भी भारतीय प्रशासनिक प्रशासनिक सेवा में नौकरी पाने के लिए भारत सरकार द्वारा 1984 के बनाए गए नियम के अनुसार सामान्य वर्ग के छात्र या छात्राएं अधिकतर 6 बार से ज्यादा IAS exam नहीं दे सकते।

सामान्य वर्ग के जो भी छात्र या छात्राएं 6 बार में भी अगर आईएएस की परीक्षा को पास नहीं कर पाते हैं तो वह भविष्य में आईएएस की परीक्षा के लिए योग्य नहीं माने जाएंगे।

पर जो छात्र अनुसूचित जाति या जनजाति से ताल्लुक रखते हैं वह UPSC द्वारा कराए गए आईएएस की परीक्षा को जितनी बार चाहे दे सकते हैं। और अगर हम पिछड़ा वर्ग यानी ओबीसी कैटेगरी की बात करें तो ऐसे छात्रों की आईएएस की परीक्षा देने की अधिकतम सीमा 9 बार है। शारीरिक रूप से विकलांग छात्र भी 9 बार से ज्यादा आईएएस की परीक्षा नहीं दे सकते।

यह भी पढ़े :- ITI क्या है ? कैसे करे पूरी जानकारी.

आईएएस की तनख्वाह – IAS salary

इस सवाल का जवाब जानने के लिए भी कई सारे छात्र काफी उत्सुक रहते हैं कि आखिर एक आईएएस अधिकारी को कितनी तनख्वाह मिलती है. तो चलिए जान लेते हैं कि आखिर एक आईएएस अधिकारी को सरकार द्वारा कितनी तनख्वाह दी जाती है।

भारत सरकार द्वारा नियुक्त किए गए हर आईएएस ऑफिसर को हर सुख-सुविधा और अच्छी सैलरी दी जाती है। अगर 7th pay commission के बाद की IAS अधिकारी की salary की बात करें तो एक नए जूनियर आईएएस अधिकारी को हर महीने 60,000/- से ₹70,000/- की तनख्वाह दी जाती है तो वहीं दूसरी तरफ एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी को हर महीने 1,50,000/- से 2,00,000/- के बीच मासिक तनख्वाह दी जाती है।

सिर्फ इतना ही नहीं हर आईएएस अधिकारियों को तनख्वाह के साथ-साथ कई सारी सुख सुविधाएं भी सरकार द्वारा दी जाती है जैसे के लिए रहने के लिए घर, गाड़ी, नौकर, ड्राइवर और यहां तक की मोबाइल का बिल भी सरकार द्वारा ही दिया जाता है।

आईएएस अधिकारी कैसे बने? – How to become IAS officer

अब तक के हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आप आईएस के बारे में काफी कुछ समझ गए होंगे चलिए अब सबसे महत्वपूर्ण सवाल बारे में बात करते है कि आखिर छात्र आईएएस कैसे बने?

आईएएस अधिकारी या किसी भी सिविल सेवा परीक्षा को पास करना हर छात्र का सपना होता है, पर जो भी छात्र इस की इच्छा रखते हैं उन्हें चाहिए कि उन्हें अपने स्कूल समय से ही इसकी शुरुआत कर देनी चाहिए और सही मार्गदर्शन के साथ अगर वह कड़ी मेहनत करते हैं तो यकीन मानिए वह IAS, IPS, IFS अधिकारी आसानी से बन सकते हैं.

एक आईएएस बनने के लिए जो सबसे पहला कदम होता है वह है आपको अपनी 12वीं कक्षा पास करनी होती है. आप अपनी 12वीं कक्षा साइंस, कॉमर्स या आर्ट्स या किसी भी स्ट्रीम्स को लेकर पास कर सकते हैं. आपके 12वीं में कितने प्रतिशत मार्क थे यह महत्व नहीं रखता।

अपना ग्रेजुएशन पूरा करें – Complete your graduation

जो छात्र 12वीं कक्षा पास कर लेते हैं उन्हें चाहिए कि वह अपनी स्नातक की डिग्री यानी graduation की पढ़ाई पूरी करें, क्योंकि UPSC exam के लिए आवेदन भरने के लिए आपका ग्रेजुएट होना अनिवार्य है वरना आप यूपीएससी एग्जाम के लिए योग्य नहीं माने जाएंगे. आप किसी भी डिग्री का कोर्स करके चाहे वह बी कॉम, बीबीए, एमबीबीएस, या बीटेक या अन्य किसी भी डिग्री को करके यूपीएससी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

UPSC परीक्षा के लिए आवेदन भरे – Fill application for UPSC exam

जैसे कि इस आर्टिकल के शुरुआत में ही मैंने आपको बताया कि IAS के लिए यूपीएससी द्वारा हर साल परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जो भी छात्र – छात्राएं आईएएस बनने के लिए इच्छा रखते हैं उन्हें यूपीएससी द्वारा कराए जाने वाले परीक्षा के लिए ONLINE APPLY करना पड़ता है। यूपीएससी हर साल IAS के साथ-साथ 25 अन्य ऐसे सरकारी सेवाओं के लिए परीक्षा कराती है। हर साल जनवरी या फरवरी के महीने में इसके आवेदन आप ऑनलाइन भर सकते हैं और आवेदन भरने के बाद जो इसकी प्रारंभिक या पहली परीक्षा मई के अंत या जून के शुरुआती समय पर होती है।

सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए UPSC हर साल 3 चरणों में परीक्षा का आयोजन करती है जो इस प्रकार है :-

  1. Preliminary examination, प्रारंभिक परीक्षा.
  2. Main examination, मुख्य परीक्षा.
  3. Interview / Personality test, साक्षात्कार / व्यक्तित्व परीक्षण.

इन परीक्षाओं को जो भी छात्र-छात्राएं सफलतापूर्वक पास करती है उन्हीं का चुनाव IAS या अन्य सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए किया जाता है. चलिए अब इन तीनों परीक्षाओं के बारे में थोड़ा बारीकी से जान लेते हैं।

Preliminary examination, प्रारंभिक परीक्षा.

UPSC द्वारा आयोजित परीक्षाओं में सबसे पहली परीक्षा  प्रारंभिक परीक्षा होती है जिसे अंग्रेजी में Preliminary examination कहते हैं, इस परीक्षा में मुख्यतः 02 पेपर होते हैं और जो भी छात्र-छात्राएं इन दोनों पेपरों को सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं उनका चयन अगले दौर की परीक्षा यानी मैन एग्जामिनेशन के लिए होता है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस प्रारंभिक परीक्षा में आने वाले सभी प्रश्न Objective type के प्रश्न होते हैं।

प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपर के अंक 200 नंबर के होते हैं जिसमें पहली परीक्षा General Studies – I और वहीं दूसरी परीक्षा General Studies – II जिसे CSATके नाम से जाना जाता है। जो भी छात्र IAS बनने के लिए इच्छुक है उन्हें इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि प्रारंभिक परीक्षा के इन दोनों पेपर को पास करने के बाद ही आप दूसरे मेन एग्जाम के लिए योग्य हो पाएंगे.

Main examination, मुख्य परीक्षा.

जो भी छात्र सफलतापूर्वक प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेते हैं वह यूपीएससी द्वारा कराए गए Main examination के लिए योग्य कहलाते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद छात्रों को 60 से 90 दिन का समय दिया जाता है मेन एग्जाम की तैयारी के लिए।

यूपीएससी का मेन एग्जाम देने से पहले छात्र एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि यह परीक्षा सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक होती है इसलिए अगर आपका सपना है कि आप भविष्य में एक IAS अधिकारी बनने का है तो आपको इस परीक्षा को पास करने के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी और सही मार्गदर्शन में पढ़ाई करने की जरूरत पड़ेगी. इस एग्जाम में कुल 9 परीक्षाएं होती हैं और इसे क्लियर करने के बाद ही छात्र इंटरव्यू के लिए योग्य बन पाते हैं।

Interview / Personality test, साक्षात्कार / व्यक्तित्व परीक्षण.

जैसा कि इस आर्टिकल के शुरुआत में ही मैंने आपको बताया था कि हर साल UPSC एग्जाम के लिए लाखों की तादाद में छात्र और छात्राएं आवेदन भरते हैं पर उनमें से गिने चुने या कुछ ही छात्र ऐसे होते हैं जो इंटरव्यू तक पहुंच पाते हैं.

जो भी छात्र सफलतापूर्वक main examination को क्लियर कर लेते हैं वह इंटरव्यू के लिए योग्य माने जाते हैं. इस इंटरव्यू में सबसे पहले एक Personality test किया जाता है जो कुल 45 मिनट का होता है जिसमें छात्र से देश से जुड़े में कुछ महत्वपूर्ण सवाल, करंट अफेयर्स के सवाल पूछे जाते हैं और उनका कॉन्फिडेंस लेवल चेक किया जाता है और साथ ही साथ उनकी जनरल नॉलेज की भी परीक्षा ली जाती है.

निष्कर्ष, Conclusion

तो दोस्तों यह थी आईएस से जुड़ी सारी जानकारी जैसे कि IAS full form in hindi, आईएएस की सैलेरी, आईएस कैसे बने और आइए से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी.

हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे इस आर्टिकल IAS full form in hindi को पढ़ने के बाद आपके मन में आईएस को लेकर जितने भी सवाल है उनके जवाब आपको मिल गए होंगे पर अगर अब भी ऐसे कुछ सवाल हैं जिनके जवाब आपको इस आर्टिकल में ना मिले हो तो निसंकोच होकर हमें कमेंट करके आप अपने सवाल पूछ सकते हैं हम आपके हर कमेंट का जवाब जल्द से जल्द देंगे.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो या अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ इसे शेयर करना ना भूले और साथ ही साथ हमारा आपसे आग्रह है कि रोज रोज ऐसी रोचक जानकारियों के लिए Hindi Master वेबसाइट के साथ जुड़े हैं और हमारे परिवार का हिस्सा बने.

धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: