कैसे बने आईपीएस: IPS full form in hindi with complete details

IPS full form in hindi, Exam details, Eligibility, Age, Attempts & Salary.

IPS full form in hindi
IPS full form in hindi

आज का हमारा आर्टिकल जिस विषय पर है वह है IPS क्या है? IPS कैसे बने और IPS full form in hindi.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की एक IPS अफसर देश की सरकारी नौकरियों में सबसे प्रतिष्ठित पदों में से एक है जिसे हासिल करना कोई आसान काम नहीं है।

भारत में हर साल लाखों की तादाद में छात्र और उम्मीदवार जिनके मन में एक IPS अफसर बनने की इच्छा होती है आईपीएस की परीक्षा में भाग लेते हैं पर लाखों बच्चों में से कुछ गिने-चुने उम्मीदवार ही सफल हो पाते हैं ।

एक IPS officer बनने का रास्ता काफी कठिन है इसके लिए उम्मीदवारों को कई सारे कठिन एग्जाम और इंटरव्यू के दौर से गुजरना पड़ता है पर यह नामुमकिन भी नहीं है। हर साल कई उम्मीदवार IPS ऑफिसर बनने से चूक जाते हैं क्योंकि उनके पास जानकारियों की कमी होती।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब भी कोई उम्मीदवार आईपीएस की परीक्षा को पास करके आईपीएस बन जाता है तब उसे पुलिस में उच्च स्तरीय पद दिया जाता है जो समाज में काफी सम्मानजनक होता है।

आईपीएस ऑफिसर की परीक्षा UPSC द्वारा हर साल कराई जाती है अगर आप भी उन छात्रों या उम्मीदवारों में से है जो आईपीएस की तैयारी कर रहे हैं और जानना चाहते हैं कि एक सफल आईपीएस ऑफिसर कैसे बने तो इन सारे सवालों का जवाब हम आपको इस पोस्ट के जरिए देने जा रहे हैं इसलिए मेरा निवेदन है कि इस पोस्ट को पूरा ध्यान से पढ़ें ताकि आपके मन में आईपीएस को लेकर कोई भी शंका ना रहे।

चलिए अब आगे जान लेते है IPS full form in hindi के बारे में.

यह भी जरूर पढ़े :- क्या है बी.बी.ए ? BBA full form in hindi.

आईपीएस क्या है, IPS full form in Hindi

IPS full form in Hindi होता है भारतीय पुलिस सेवा जिसे हम अंग्रेजी में Indian police service कहते हैं

जो भी छात्र IPS की परीक्षा और इंटरव्यू पास करके एक सफल आईपीएस ऑफिसर बन जाते हैं उन्हें सरकार की तरफ से काफी सारी सुविधाएं दी जाती है.

एक आईपीएस ऑफिसर बनने के बाद समाज में आपका मान सम्मान तो बढ़ता ही है साथ ही साथ आपके मां बाप का भी नाम पूरी दुनिया में रोशन होता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक IPS officer अपने पुलिस डिपार्टमेंट का सबसे सीनियर हेड होता है और उसके पास अपने पूरे डिपार्टमेंट का पूरा कंट्रोल यानी पावर होता है।

आईपीएस का अधिकारी भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन काम करता है.

एक आईपीएस अधिकारी का मुख्य दायित्व होता है की वो समाज में कानून व्यवस्था को बनाए रखें और लॉ एंड ऑर्डर से जुड़े हर काम आईपीएस को करने पड़ते हैं

अब तक तो आपने यह जान लिया होगा कि आईपीएस क्या होता हैं, IPS full form in hindi क्या होता है चलिए अब आगे जान लेते हैं कि आईपीएस ऑफिसर कैसे बने और इसके लिए क्या योग्यताएं होती हैं.

यह भी जरूर पढ़े :- Phd full form in hindi. phd kya hai, phd kaise kare

आईपीएस के लिए योग्यता, Eligibility for IPS

हर छात्र के मन में यह सवाल जरूर आता है जो भी IPS बनने के लिए इच्छुक होता है कि आईपीएस बनने के लिए योग्यताएं क्या होती है और एक आईपीएस अधिकारी कैसे बने तो आपकी जानकारी के लिए हमने नीचे वह सारी जरूरी जानकारियां दी है जो एक आईपीएस बनने के लिए जरूरी होती है :-

नागरिकता, Nationality

  1. जो भी उम्मीदवार IPS अधिकारी बनना चाहते हैं उनके पास भारत की नागरिकता होनी चाहिए।
  2. भारत में आप्रवासी भी आईपीएस अधिकारी बनने के लिए योग्य है और आवेदन भी कर सकते हैं जो युगांडा, श्रीलंका, पाकिस्तान, जांबिया और केनिया जैसे देशों से आए हैं.
  3. तिब्बत के शरणार्थी भी IPS के अधिकारी के आवेदन के लिए योग्य है पर भारत सरकार द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार जो भी तिब्बत के शरणार्थी 1 जनवरी 1962 से पहले भारत आए थे सिर्फ वही योग्य है।

एजुकेशन, Education

  1. कई छात्रों के सवाल आते हैं कि कि क्या वे बारहवीं कक्षा के बाद IPS का एग्जाम दे सकते हैं तो जवाब है नहीं, एक आईपीएस अधिकारी बनने के लिए या उसके एग्जाम में बैठने के लिए आपके पास स्नातक डिग्री होना अनिवार्य है.
  2. हां अगर आप आप स्नातक या ग्रेजुएशन की डिग्री के आखिरी साल मैं है तो आप आईपीएस के एग्जाम के लिए आवेदन भरने के योग्य हैं.
  3. आप जिस किसी भी यूनिवर्सिटी से अपनी स्नातक की डिग्री कर रहे हो वह यूनिवर्सिटी UGC से मान्यता प्राप्त होनी चाहिए.
  4. एक आईपीएस अधिकारी बनने के लिए या उसकी परीक्षा देने के लिए आप किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री कर सकते हैं इसमें कोई प्रतिबंध नहीं है जो छात्र B.com, B.A., या BSC कर रहे हैं वह भी IPS का एग्जाम दे सकते हैं.

उम्र, Age

  1. एक IPS अधिकारी बनने के लिए जो भी लड़के या फिर लड़कियां इच्छुक हैं उनकी उम्र कम से कम 21 साल या अधिकतम 32 साल होनी चाहिए.
  2. भारत सरकार द्वारा आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कुछ कोटा भी लागू किए गए हैं जो इस प्रकार हैं. OBC – 35 वर्ष, SC/ST – 37 वर्ष, GENERAL – 32 वर्ष.
  3. वैसे जम्मू कश्मीर के उम्मीदवार जो IPS की परीक्षा देना चाहते हैं उनकी आयु सीमा में 5 साल की अधिक छूट है.
  4. वही दिव्यांग छात्रों और उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा में 10 साल की अतिरिक्त छूट है.

परीक्षा के लिए कितने प्रयास, Attempts

UPSC द्वारा हर वर्ग के लिए अधिकतम प्रयासों की संख्या तय की गई है जो इस प्रकार है :-

General – 07 बार
OBC – 09 बार
SC/ST – जितनी बार चाहे प्रयास कर सकते हैं

शारीरिक मापदंड, Physical criteria

  1. IPS अधिकारी बनने के लिए जो शारीरिक मापदंड दिए गए हैं वह पुरुषों के लिए 165 सेंटीमीटर तो वहीं महिलाओं के लिए 150 सेंटीमीटर आपकी लम्बाई होनी अनिवार्य है.
  2. पुरुषों की छाती कम से कम एक ही 84 सेंटीमीटर होना अनिवार्य है और फुलाने पर 5 सेंटीमीटर और बढ़नी चाहिए वहीं दूसरी तरफ महिलाओं के लिए सीना 79 सेंटीमीटर है जो फुलाने पर 5 सेंटीमीटर बढ़नी चाहिए.
  3. आंखों की रोशनी 6/6 या 6/9 होनी चाहिए और जिन उम्मीदवारों की आंखें कमजोर है या जिन्हें चश्मा है उनका 6/9 या 6/12 होना अनिवार्य है.
  4. जिन भी उम्मीदवारों को बोलने में तकलीफ है जैसे हकलाना, तुतलाना ऐसे उम्मीदवार IPS अधिकारी के परीक्षा के लिए योग्य नहीं है.

यह भी जरूर पढ़े :- SSC की पूरी जानकारी, ssc full form in hindi.

कैसे बने IPS ?

जो भी छात्र भविष्य में IPS अधिकारी बनना चाहते हैं उन्हें सबसे पहले UPSC की Civil service exam के लिए अप्लाई करना होता है और जैसे कि मैंने पहले ही कहा आईपीएस का एग्जाम के लिए अप्लाई करने के लिए आपका स्नातक या ग्रेजुएट होना अनिवार्य है या फिर आप अपने स्नातक के अंतिम साल में हो तभी आप UPSC के सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं. UPSC द्वारा यह परीक्षा हर साल कराई जाती है

IPS अधिकारी बनने के लिए UPSC exam के तीन स्टेज होते हैं पहली तो लिखित परीक्षा कराई जाती है जिसमें उम्मीदवार अगर इस परीक्षा को क्लियर कर लेते हैं तो वह अंतिम स्टेज में पहुंचते हैं जहां उनका इंटरव्यू होता है और इंटरव्यू पास करने के बाद उन्हें फिर फाइनल ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है.

चलिए अब विस्तार में जान लेते हैं कि UPSC exam के तीनों स्टेज :-

1. CIVIL SERVICE PRELIMINARY EXAM

जो भी छात्र UPSC में IPS एग्जाम के लिए आवेदन करते हैं उन्हें सबसे पहले जो एग्जाम देना पड़ता है उसे Preliminary Exam कहते हैं इस परीक्षा को CIVIL SERVICE APTITUDE TEST भी कहा जाता है।

यूपीएससी द्वारा यह परीक्षा हर साल मई – जून के मध्य में कराया जाता है जिसका रिजल्ट जुलाई या अगस्त के अंतिम महीनों तक आ जाता है

इस परीक्षा में मुख्य 2 पेपर होते हैं जो 200 अंक के होते हैं और इस परीक्षा में हर सवाल objective type ही होता है यानी हमें हर एक सवाल के कई विकल्प दिए जाते हैं जिनमें से हमें सही जवाब का चुनाव करना होता है और जो छात्र इस परीक्षा को पास कर लेते हैं फिर उन्हें मुख्य एग्जाम यानी main exam देने के योग्य माना जाता है.

यह भी जरूर पढ़े :- MBA क्या है, कैसे करे, MBA full form in hindi.

2. Civil service main exam

Preliminary exam को जो भी छात्र सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं उसके बाद उन्हें Civil service main exam देना पड़ता है और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह एग्जाम काफी कठिन होता है जो बहुत कम ही उम्मीदवार पास कर पाते हैं । इस परीक्षा को CSE mains एग्जाम भी कहा जाता है और यह आमतौर पर हर साल के अक्टूबर महीने में कराया जाता है.

इस परीक्षा में रिटन टेस्ट और इंटरव्यू दोनों होते हैं। 09 पेपर में से सिर्फ 02 पेपर ऐसे होते हैं जो 300 नंबर के होते हैं बाकी सभी 7 पेपर 250 अंक के होते हैं और इन सबके अलावा एक पर्सनैलिटी टेस्ट भी होते हैं जिसके 250 अंक अलग होते हैं.

जो भी छात्र भविष्य में IPS बनने के इच्छुक होते हैं उन्हें इस परीक्षा को काफी गंभीरता से लेना चाहिए और इसकी तैयारी के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए तभी जाकर वह इस परीक्षा के सफलतापूर्वक पास कर पाएंगे.

यह भी जरूर पढ़े :- क्या है CA का फुल फॉर्म. CA Full Form in hindi

Interview

ऊपर मैंने जो परीक्षाएं बताई है उन दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद IPS की परीक्षा का अंतिम चरण आता है जो होता है इंटरव्यू. हर एक इंटरव्यू लगभग 45 मिनट का होता है जिसमें उम्मीदवारों से अत्यंत ही कठिन सवालों को पूछा जाता है और उनकी मानसिक क्षमताओं का परीक्षण किया जाता है। शायद आप ना जानते हो पर हर साल लगभग 500 से 600 उम्मीदवारों का चयन IPS के लिए होता है.

जो उम्मीदवार सफलतापूर्वक हर परीक्षा और इंटरव्यू को पास कर लेते हैं उन्हें फिर आखरी में IPS की ट्रेनिंग के लिए सरदार वल्लभभाई पटेल पुलिस अकैडमी भेजा जाता है। और जो छात्र यहां से सफलतापूर्वक अपनी ट्रेनिंग पूरी कर लेते हैं उन्हें फिर भारत के अनेक जगहों पर उच्च पदों पर नियुक्त किया जाता है।

आईपीएस की तनख्वाह, Salary of IPS

यह सवाल हर छात्र है और उम्मीदवारों के मन में आता है जो भविष्य में IPS बनने का सपना रखते है, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें की हाल ही में 7th pay commission के बाद से IPS अधिकारियों की तनख्वाह में काफी बढ़ोतरी हुई है हर आईपीएस अधिकारी की तनख्वाह समान नहीं होती है हर आईपीएस अधिकारी को मिले पद या उनके एक्सपीरियंस के हिसाब से उनकी वेतन निर्धारित की जाती है.

जो भी आरपीएस अधिकारी नए होते हैं उन्हें साल 65,000 से 70,000 मासिक वेतन मिलता है, वहीं दूसरी तरफ SP, ASP और ACP को 1,00,000 से 1,10,000 तक I.G., D.I.G. और D.G.P लेवल के आईपीएस की सैलरी 2,00,000 तक होती है.

तो यह थी IPS से जुड़ी सारी बारीक़ जानकारी जैसे आईपीएस कैसे बने, आईपीएस क्या है. और IPS full form in hindi. अगर आपको हमारे ऊपर दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वह भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें

यह भी जरूर पढ़े :-

क्या है POK ? जानिए पूरी जानकारी

क्या है CBI और CID का फुल फॉर्म

LOC क्या है, कैसे बना. LOC full form in hindi, history & meaning.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: