क्या है POK ? जानिए पूरी जानकारी. pok full form & meaning in hindi.

जानिए POK से जुडी हर जानकारी और pok full form in hindi.

pok full form in hindi
Map of POK

आज के इस लेख में हम आपको pok full form & meaning in hindi की पूरी जानकारी देंगे, साथ ही साथ इस से जुड़े अन्य जानकारी भी आपसे साझा करेंगे जिसे पढ़ने के बाद आपके मन में POK को लेकर कोई भी शंका नहीं रहेगी.

आप में से कई लोगों ने अक्सर इस शब्द POK को समाचारों में, फिल्मों में या अखबारों में पढ़ा ही होगा, पर क्या आप पीओके का पूरा अर्थ समझते हैं, क्या आपको इसकी सारी जानकारियां हैं.

मेरे ख्याल से भारत के हर व्यक्ति को POK के बारे में जानना अनिवार्य होना चाहिए क्योंकि इसकी जानकारी भविष्य में आप के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती है.

POK full form in hindi क्या है ?

Pok full form in Hindi – पाकिस्तान ऑक्यूपाइड कश्मीर (Pakistan occupied kashmir) जिसे हिंदी में पाक अधिकृत कश्मीर भी कहा जाता है. जिसका मतलब होता है कि भारत के कश्मीर का वह हिस्सा जिस पर पाकिस्तान का कब्जा है. शायद आप ना जानते हो पर पीओके भी दो हिस्सों में बटा हुआ है पहला हिस्सा जिसे आजाद कश्मीर कहां जाता है, तो वहीं दूसरे हिस्से को गिलगित बल्टिस्तान के नाम से जाना जाता है। अगर हम सेत्र फल की बात करें तो पाक अधिकृत कश्मीर यानी POK का कुल क्षेत्रफल 13,300 वर्ग किलोमीटर है जो कि हमारे भारत के कश्मीर से 3 गुना अधिक है।

भारत के लिए पीओके क्यों अहम है ?

pok full form in hindi
pok full form in hindi

जैसा कि आप सब लोग जानते ही होंगे कि जब से हमारी भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर के ऊपर से धारा 370 को हटाया है, तब से ही भारत में POK को भारत का हिस्सा बनाने की मांग तेज होती जा रही है.

यहां तक कि हमारे भारत के गृह मंत्री ने तो संसद में यह अब तक बयान दे दिया कि POK भारत का एक अहम हिस्सा है जिसे हम वापस लेकर रहेंगे. पीओके कश्मीर का ही एक हिस्सा है पर अभी पाकिस्तान के अधिकार क्षेत्र में आता है, इसलिए इसे पाक अधिकृत कश्मीर भी कहा जाता है.

चलिए अब आगे है जान लेते हैं कि आखिर पीओके का इतिहास क्या है और POK को कैसे बना.

कैसे बना POK

जब 15 अगस्त सन 1947 को हमारे भारत देश को अंग्रेजों से आजादी मिली तो उसके कुछ ही समय के अंतराल में सिर्फ धर्म के आधार पर भारत के दो टुकड़े किए गए थे, तब भारत से अलग होकर पाकिस्तान देश का गठन हुआ था और यही नहीं विभाजन के कुछ ही दिनों के बाद ही हमारे स्वतंत्र जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तान ने धोखे से आक्रमण कर आधे से अधिक हिस्से पर अपना कब्जा कर लिया. और इसी पाकिस्तान द्वारा कब्जा किए गए जम्मू कश्मीर के हिस्से को POK के नाम से जाना जाता है.

POK का इतिहास

जब 15 अगस्त 1947 को हमारे भारत देश को ब्रिटिश राज्य से स्वतंत्रता मिली थी तब उस समय भारत देश में कई सारे रियासत थे. और जब भारत का विभाजन हुआ तब उस समय इन सभी रियासतों को यह चुनने की आजादी थी कि वे भारत में रहे या पाकिस्तान जाए. आप यकीन नहीं करेंगे 500 से ज्यादा रियासतों ने भारत देश के साथ रहने का फैसला किया था और वहीं दूसरी तरफ जूनागढ़, हैदराबाद और जम्मू-कश्मीर जैसे रियासतों के राजाओं ने दोनों देशों के साथ यानी पाकिस्तान और भारत दोनों में से किसी भी देशों के साथ मिलने से इंकार कर दिया था.

टिकविभाजन के कुछ समय बाद भारत सरकार ने अपनी कूटनीतिक समझ और उस के दम पर जूनागढ़ और हैदराबाद जैसे रियासतों को अपने साथ मिलाने में कामयाबी हासिल की थी. उस समय जम्मू कश्मीर के राजा महाराजा हरि सिंह थे, जिन्होंने यह फैसला किया था कि जम्मू कश्मीर भारत का अलग राज्य रहेगा.

पाकिस्तान आर्मी का कश्मीर पर हमला

जैसा कि इस लेख में हमने पहले ही बताया कि विभाजन के कुछ ही महीनों बाद पाकिस्तान ने स्वतंत्र कश्मीर यानी भारत के कश्मीर पर हमला कर दिया था और पाकिस्तानी आर्मी के आगे जम्मू कश्मीर के राजा महाराज हरि सिंह की सेना नहीं टिक पाई थी और पाकिस्तान की सेना कश्मीर में घुस गई थी और वहां पर अपना कब्जा कर लिया था

पाकिस्तान की सेना के कश्मीर में घुसने के बाद महाराज हरि सिंह ने यह फैसला लिया कि वह भारत सरकार की मदद लेंगे और उस समय भारत सरकार और महाराज हरि सिंह के बीच एक समझौता हुआ जिसके आज भारत ने अपनी सेना जम्मू कश्मीर के लिए भेजी.

संयुक्त राज्य संघ का दखल

हमारे भारतीय सेना के जवानों ने पूरी हिम्मत और वीरता के साथ पाकिस्तानी सेना का सामना किया और हमारी सेना जब पाकिस्तानी सेना को जम्मू-कश्मीर से खदेड़ने ही वाली थी ठीक उसी वक्त संयुक्त राज्य संघ ने इस मामले में अपना हस्तक्षेप किया और उनके हस्तक्षेप के बाद दोनों देशों की लड़ाई रुक गई। पर भारतीय सेना और पाकिस्तानी सेना की लड़ाई रुकते तक जम्मू कश्मीर का आधे से ज्यादा हिस्सा पाकिस्तान अपने कब्जे में ले चुका था।

LOC का गठन

जब संयुक्त राष्ट्र ने दोनों देशों की लड़ाई पर विराम लगाया था तब दोनों देशों की सेना जहां पर थी वहीं पर सीमा बनी जिसे हम LOC के नाम से जानते हैं. LOC का फुल फॉर्म होता है लाइन ऑफ कंट्रोल (Line of control). Loc के बनने के बाद जो कश्मीर का हिस्सा पाकिस्तान में चला गया था उसे ही आज पाक अधिकृत कश्मीर यानी POK के नाम से जाना जाता है.

जब से दोनों देशों के बीच में LOC का निर्माण हुआ है तब से विवाद बना हुआ है पाकिस्तान का यह मानना है कि जो कश्मीर भारत के हिस्से में है उस पर पूरा पाकिस्तान का हक है तो वही भारत का कहना है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) पर भारत का हक है.

POK से जुड़े कुछ रोचक बातें

  • दुनिया के सबसे तेजी से तरक्की करने वाले दो देश यानी भारत और चीन की सीमा से लगने के बावजूद भी POK की आर्थिक स्थिति काफी खराब है और वह एक पिछड़ा हुआ क्षेत्र भी है.
  • मुजफ्फराबाद है आजाद कश्मीर की राजधानी.
  • पाक अधिकृत कश्मीर यानी POK का प्रमुख पाकिस्तान के राष्ट्रपति होते हैं और वही पाक अधिकृत कश्मीर के कार्यकारी अधिकारी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री होते है.
  • कहने के लिए तो POK का अपना संसद है जो स्वतंत्र काम करता है पर असल में POK का सारा काम पाकिस्तान के नियंत्रण में ही है.
  • पीओके दो हिस्सों में बटा हुआ है एक हिस्सा जिसे हम आजाद कश्मीर के नाम से जानते हैं तो वहीं दूसरा हिस्सा जिसे गिलगित बलूचिस्तान के नाम से जानते हैं.
  • POK के धिकतर लोग का जीवन बसर खेती से चलता है और यहां के लोग मक्का और गेहूं जैसी फसलों की ज्यादा खेती करते हैं.
पाकिस्तान का दावा

जैसा कि हम सब जानते हैं कि POK को लेकर भारत और पाकिस्तान दोनों के बीच में तनाव चला आ रहा है और दोनों ही देशों के अपने-अपने दावे हैं. पाकिस्तान का यह दावा है कि 1933 में जब पाकिस्तान बनाने की घोषणा हुई थी तब उस घोषणा के अनुसार पांच राज्यों को मिलाकर पाकिस्तान की स्थापना होनी थी जिसमें से एक राज्य जम्मू-कश्मीर भी था पर भारत का इस दावे से साफ इंकार है.

भारत का दावा

पाकिस्तान के इस दावे का भारत ने हमेशा से खंडन किया है और भारत का दावा रहा है कि 1947 में जब पाकिस्तान ने धोखे से जम्मू कश्मीर में हमला किया था उस समय जम्मू कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग था जिसे पाकिस्तान ने धोखे से अपने कब्जे में ले लिया था.

दोनों देशों के बीच तनाव का मुख्य कारण

आप सभी लोग इस बात से अच्छी तरह परिचित होंगे कि भारत और पाकिस्तान के बीच में अन्य देशों के मुकाबले ज्यादा तनाव रहता है. हम समाचार पत्रों और न्यूज़ के माध्यम से भी समझ सकते हैं कि पाकिस्तान हमेशा से ही भारत द्वारा बनाए गए नियमों का उल्लंघन करता है जैसे कि बॉर्डर पर सीजफायर का उल्लंघन करना या पाक अधिकृत कश्मीर की मांग करते रहना और पाकिस्तान की इसी हरकतों की वजह से हमारे सीमा में हमेशा तनाव की स्थिति बनी रहती है. दोनों देशों के बीच में सीमा की शांति कायम करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई बैठकें हो चुकी है पर आज तक इसका कोई समाधान नहीं निकल सका है.

तो दोस्तों यह थी POK full form in hindi, हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढ़ने के बाद POK से जुड़े आपकी सारी शंकाएं दूर हो गए होगी. अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले.

यह भी जरूर पढ़े :-

MBA full form in hindi क्या है, कैसे करे MBA

SSC की पूरी जानकारी, ssc full form in hindi

Phd full form in hindi. phd kya hai, phd kaise kare ?

WHO full form in hindi. WHO फुल फॉर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: