LOC क्या है, कैसे बना. LOC full form in hindi, history & meaning.

loc full form in hindi
loc full form in hindi

आज हम जिस विषय में बात करने जा रहे हैं वह है LOC क्या है, एलओसी का इतिहास क्या है और LOC full form in hindi.

Loc शायद भारत देश का सबसे बहुचर्चित मुद्दा होगा जिसके बारे में तकरीबन हर कोई भारतीय आए दिन टीवी न्यूज़ चैनल या अखबारों के माध्यम से सुनता ही रहता होगा पर क्या आप जानते हैं कि एलओसी LOC है क्या.

अगर आप नहीं जानते तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, आज LOC के बारे में संपूर्ण जानकारी आज हम इस आर्टिकल में देने जा रहे हैं.

यह बात तो सब लोग जानते होंगे कि भारत को अंग्रेजों से आजादी के बाद सिर्फ धर्म के आधार पर भारत के दो हिस्से कर दिए गए थे, जिसमें से एक हिस्सा पाकिस्तान कहलाया था और उसी के बाद एलओसी का गठन किया गया था पर अब क्या आप जानते हैं कि LOC को क्यों बनाया गया था और LOC का इतिहास क्या है?

तो चलिए अब बिना समय बर्बाद किए जान लेते हैं कि LOC क्या है, LOC full form in hindi और LOC का इतिहास क्या है?

LOC full form in Hindi क्या है?

LOC full form in hindi होता है Line of control जिसे हिंदी में नियंत्रण रेखा के नाम से भी जाना जाता है।

औपचारिक रूप से LOC का नाम शिमला समझौते के बाद नियंत्रण रेखा के नाम से रख दिया गया था, जिस पर जुलाई तीन सन 1972 को हस्ताक्षर किए गए थे.

LOC को आप एक तरह से युद्ध विराम की रेखा भी कह सकते हैं जहां दोनों देशों की सेना हमेशा आमने सामने रहती है इसलिए LOC पर हमेशा तनाव की स्थिति या युद्ध की स्थिति बनी रहती है.

जब सन 1947 में भारत को अंग्रेजों से आजादी मिली थी तब उसके बाद भारत देश में की सारी रियासते थी। और जब भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ तब इन सब सारी रियासतों को यह स्वतंत्रता दी गई कि अगर वे चाहें तो भारत देश के साथ रह सकते हैं या फिर पाकिस्तान के साथ भी जा सकते हैं पर अगर वह चाहे तो वह अपने खुद का देश बनाने के लिए भी स्वतंत्र है ।

भारत की कई सारी रियासतों ने भारत के साथ रहने की इच्छा जाहिर की और भारत के साथ में रहने लगे पर जम्मू कश्मीर के राजा हरि सिंह अपना स्वतंत्र देश बनाने का फैसला किया।

कैसे बना LOC? How LOC was formed.

भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के बाद से ही पाकिस्तान के मन में यह इच्छा थी कि जम्मू कश्मीर को पाकिस्तान में मिलाया जाए और इसी साजिश को अंजाम देने के लिए उसने  जम्मू कश्मीर के ऊपर हमला करके उसे अपने कब्जे में लेने की कोशिश की।

उस समय राजा हरिसिंह की सेना ने पाकिस्तान की सेना का डटकर सामना किया पर राजा हरिसिंह की सेना पाकिस्तान के सेना के सामने टिक नहीं पाई.

तब राजा हरि सिंह ने भारत सरकार से मदद की गुहार लगाई और इस बात के लिए राजी हो गए कि वह जम्मू-कश्मीर को भारत के साथ मिलाने के लिए तैयार है. राजा हरि सिंह ने भारत के बाकी रियासतों की तरह भारत में विलय होने के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर भी किए।

तब भारत सरकार ने उनके मदद के लिए भारत की सेना को पाकिस्तान से युद्ध के लिए जम्मू कश्मीर भेजा और हमारे भारत के वीर जवानों ने पाकिस्तान की सेना का डटकर सामना किया और उन्हें जम्मू कश्मीर से काफी हद तक पीछे धकेल दिया था।

भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध विराम

जिस समय भारत की सेना जम्मू कश्मीर से पाकिस्तान की सेना का पूरी तरीके से सफाया करने वाली थी थे ठीक उसी समय भारत के प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री जवाहरलाल नेहरू जी ने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र के सामने रखा।

आज भी कई लोगों का यह मानना है कि यह जवाहरलाल नेहरू जी की सबसे बड़ी गलती थी क्योंकि भारतीय सेना पाकिस्तान की सेना को जम्मू कश्मीर से बाहर खदेड़ने ही वाली थी कि तभी जवाहरलाल नेहरू जी के आग्रह पर संयुक्त राष्ट्र ने दखल दिया और इसी तरह युद्ध विराम का ऐलान हुआ

जिसका परिणाम यह हुआ की 5 जनवरी सन 1949 को सीजफायर का ऐलान किया गया और जिसके अनुसार जिस देश की सेना जहां पर थी वह हिस्सा उसका हो गया और और वहां पर युद्ध विराम की रेखा बनाई गई जिसे हम आज LOC के नाम से जानते है.

क्यों होता है LOC पर तनाव?

वैसे देखा जाए तो LOC को नियंत्रण रेखा कहा जाता है पर यह बात भी अटल सत्य है कि किसी भी देश का नियंत्रण रेखा पर कोई नियंत्रण नहीं होता.

इसीलिए किसी भी देश के नियंत्रण रेखा पर आए दिन तनाव होते रहते हैं, पर बाकी देशों के मुकाबले भारत और पाकिस्तान के नियंत्रण रेखा के बीच में तनाव ज्यादा रहता है और यहां युद्ध की स्थिति हमेशा बनी रहती है।

वैसे भी पाकिस्तान आए दिन अपने आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए आतंकवादी घुसपैठ कराता रहता है जिसके वजह से LOC और बॉर्डर पर काफी तनाव रहता है.

इस आतंकी घुसपैठ का सामना करते हुए हमारे कई जवान भी शहीद हो चुके हैं जिनके बारे में आप टीवी न्यूज़ चैनल और अखबारों के माध्यम से सुनते रहते होंगे।

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारे आर्टिकल LOC full form in hindi. यहां पर हमने कोशिश की है कि loc से जुड़े सारे सवालों के जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से आपके सामने रख सकें.

अगर अब भी आपके मन में LOC को लेकर कोई भी सवाल है तो आप निसंकोच हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं. हम आपके हर सवाल का जवाब जल्द से जल्द देंगे.

और अगर हमारा यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले.

यह भी पढ़े :-

क्या है POK ? जानिए पूरी जानकारी

भारत का क्षेत्रफल कितना है

2021 में भारत की जनसंख्या कितनी है

2021 पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है

भारत में कितने राज्य है उनके नाम ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: