Karnataka BJP Youth Leader Praveen Nettaru Murder Case Two Persons Police PFI Link


BJP Leader Murder Case: कर्नाटक (Karnataka) में बीजेपी (BJP) नेता प्रवीण नेट्टारू (Praveen Nettaru) की हत्या के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इस बात की जानकारी पुलिस ने दी है. पुलिस का कहना है कि कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में हुई हत्या के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनकी पहचान जाकिर (Zakir) और शफीक (Shafiq) के रूप में हुई है. इसके अलावा इन लोगों का पीएफआई (PFI) के साथ लिंक होने का संदेह भी है. इस बात की जानकारी लॉ एंड ऑर्डर एडीजीपी आलोक कुमार (Alok Kumaar) ने दी है.

उन्होंने कहा कि जाकिर और शफीक को कल हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इन लोगों को सबूत के आधार पर आज गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने ये भी बताया कि इन लोगों के साथ पूछताछ के बाद कुछ गिरफ्तारियां भी संभव हैं. पुलिस ने ये भी बताया कि ये दोनों उसी जिले के रहने वाले हैं जहां प्रवीण नेट्टारू रहते थे.

एनआईए से जांच की मांग

तो वहीं केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे ने इस मामले की जांच केद्रीय जांच एजेंसी से कराने की मांग की है. इस मामले को लेकर केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पत्र भी लिखा है और एनआईए से जांच कराने की मांग की है. उन्होंने पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि इस मामले की जांच एनआईए को सौंपी जाए. इसके अलावा कर्नाटक के गृहमंत्री ने भी आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे हाल ही में हिजाब को लेकर विरोध करने वाले संगठनों का हाथ हो सकता है.

पीएफआई और एसडीपीआई पर लग रहा आरोप

प्रवीण नेट्टारू (Praveen Nettaru) की हत्या का आरोप पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) पर लग रहा है. वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने इन दोनों संगठनों पर ये आरोप लगाया है. गौरतलब है कि मंगलवार 26 जुलाई की रात को बीजेपी युवा (Youth BJP) मोर्चा के नेता प्रणीण नेट्टारू की उसकी ही दुकान पर हत्या कर दी थी. ये हत्या मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए अज्ञात हमलावरों ने की थी.

ये भी पढ़ें: Karnataka BJP Leader Murder: कर्नाटक में बीजेपी कार्यकर्ता की मौत पर गृहमंत्री अरगा जनेंद्र का बड़ा बयान, जानें क्या कहा

ये भी पढ़ें: Karnataka: प्रवीण नेट्टारू की हत्या मामले में पुलिस ने 21 लोगों को लिया हिरासत में, PFI से जुड़े होने की आशंका



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.