India’s 5G Revolution To Start With Airtel 5G From This August Post Successful Auction


Airtel 5G: भारत सरकार के दूरसंचार विभाग द्वारा आयोजित 5G नीलामी में भारती एयरटेल (Airtel) ने कुल 43,084 करोड़ रुपये में 19,867.8 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पेक्ट्रम हासिल किया है. इसमें पूरे भारत में 26 गीगाहर्ट्ज़ (GHz) और 3.5 गीगाहर्ट्ज़ (GHz) बैंड शामिल हैं. जबकि मिड बैंड स्पेक्ट्रम (900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज और 2100 मेगाहर्ट्ज) को भी मजबूत किया गया है. इसके साथ ही एयरटेल ने 20 साल के लिए 5G स्पेक्ट्रम हासिल कर लिया है.

इस अधिग्रहण का मतलब है कि एयरटेल के पास अब देश में सबसे ज्यादा फैला हुआ मोबाइल ब्रॉडबैंड फुटप्रिंट है. ये भारत में 5G क्रांति लाने के लिए टेलीकोम कंपनी एयरटेल को सबसे आगे रखता है. स्पेक्ट्रम अधिग्रहण में पिछले कुछ वर्षों में, कंपनी ने एक स्मार्ट और अच्छी रणनीति का पालन किया है जिसके परिणामस्वरूप एयरटेल के पास आज मिड और लो बैंड स्पेक्ट्रम का सबसे बड़ा पूल है.

ग्राहकों को बेहतर 5G सेवाएं देने के लिए तैयार एयरटेल
इसके जरिए कंपनी 5G सेवाओं के कमर्शियल रूप से शुरू होने के बाद सबसे बढ़िया 5G कवरेज दे पाएगी. यहां तक की एयरटेल ने कहा कि वह अगस्त 2022 में अपनी 5G सेवाएं शुरू करेगा और ग्राहकों को 5G कनेक्टिविटी का पूरा लाभ देने के लिए कंपनी दुनियाभर के बेस्ट टेक्नोलॉजी पार्टनर्स के साथ काम करेगा. 

भारती एयरटेल के एमडी और सीईओ गोपाल विट्टल ने अधिग्रहण पर कहा, “एयरटेल 5G नीलामी के परिणामों से खुश है. हालिया नीलामी में ये स्पेक्ट्रम अधिग्रहण हमारी रणनीति का हिस्सा रहा है जिसमें हमने प्रतिस्पर्धा की तुलना में काफी कम लागत पर बढ़िया स्पेक्ट्रम खरीदा है. हमें विश्वास है कि हम कवरेज, स्पीड और लेटेंसी के मामले में भारत में सर्वश्रेष्ठ 5G अनुभव देने में सक्षम होंगे. इससे हम अपने बी2सी और बी2बी, दोनों ग्राहकों के लिए कई स्थापित प्रतिमानों को बदल सकेंगे.” 

अगस्त में 5G सेवाएं शुरू करेगा एयरटेल
एयरटेल अब देश के विभिन्न हिस्सों में कुछ प्रमुख शहरों से 5G सेवाएं शुरू करने की योजना बना रही है. कंपनी ने अगस्त 2022 में 5G डिप्लॉयमेंट शुरू करने के लिए एरिक्सन, नोकिया और सैमसंग के साथ 5G नेटवर्क एग्रीमेंट पर साइन कर दिए हैं. बाजार में कम कीमत पर उपलब्ध 5G सक्षम उपकरणों की बढ़ती संख्या के को देखते हुए कंपनी को विश्वास है कि उसके ग्राहक तेजी से 5G तकनीक को अपनाएंगे. 5G लोगों के काम करने और खेलने के तरीके को पूरी तरह से बदल देगा, इसलिए इसका खुले हाथों से स्वागत किया जाएगा.

एयरटेल रहा है सबसे आगे
एयरटेल 5G के मामलों में सबसे आगे रहा है. एयरटेल ने पिछले कुछ वर्षों में 5G फर्स्ट का कीर्तिमान स्थापित किया है. उदाहरण के लिए एयरटेल भारत में 2018 में 5G तकनीक का परीक्षण करने वाली पहली कंपनी थी. तब से, कंपनी ने 5G सेवाओं के लॉन्च के लिए कई अन्य परीक्षण किए हैं. पिछले साल एयरटेल ने दिल्ली के बाहरी इलाके में देश का पहला ग्रामीण 5G परीक्षण किया और 700 मेगाहर्ट्ज बैंड पर 5G परीक्षण करने वाली पहली कंपनी थी. 

हाल ही में, एयरटेल (Airtel) ने BOSCH सुविधा में भारत का पहला निजी 5G नेटवर्क लॉन्च किया और देश की पहली 5G कनेक्टेड एम्बुलेंस लॉन्च करने के लिए अपोलो अस्पताल के साथ भागीदारी की. ब्रांड ने एयरटेल 5जी के द्वारा संचालित ऑनलाइन गेमिंग में भी एक झलक पेश की, जब इसने 2021 में प्रो गेमर्स- मॉर्टल और माम्बा के साथ भारत के पहले क्लाउड गेमिंग प्रदर्शन की मेजबानी की. इस साल की शुरुआत में, एयरटेल ने 175 रीप्लेड के नाम से एक विशेष 5G कार्यक्रम का आयोजन किया था जिसमें महान क्रिकेटर कपिल देव नजर आए थे. इसमें क्रिकेटर कपिल देव (Kapil Dev) का देश का पहला 5G-संचालित लाइव होलोग्राम देखा गया था. एयरटेल ने दिखाया है कि 5G तकनीक के रोल आउट के साथ संभावनाएं अनंत हैं और बस इसके शुरू होने का इंतजार है. 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.