Imran Khan Foresees General Elections In Eight Weeks In Pakistan


Pakistan News: पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) प्रमुख और पूर्व पाक पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने देश में अगले आठ हफ्तों में आम चुनाव शुरू होने की भविष्यवाणी (Prediction) की है. इमरान खान ने पाकिस्तान (Pakistan) में छह से आठ हफ्तों में मध्यावधि चुनाव का दावा करते हुए संघीय और प्रांतीय विधानसभाओं में सदस्यों को अभी से तैयारियां तेज करने के लिए कहा है. इमरान खान ने पंजाब (Pakistan Punjab) विधानसभा के पीटीआई के सदस्यों के साथ बैठक में आम चुनाव (Pakistan General Elections) को लेकर तैयारियों पर जोर दिया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान ने वरिष्ठ सदस्यों से कहा कि वे प्रांत में पीटीआई के संगठनात्मक ढांचे को पूरा करें. इमरान खान ने कहा, ”25 मई को निजता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानून अपना काम करेगा.मैं उन लोगों को जानता हूं जिन्होंने हमें धोखा दिया लेकिन सबके सामने मैं किसी का नाम नहीं लेना चाहता हूं.”
 
इमरान खान का यह बयान सबसे बड़े सूबे पंजाब की सत्ता में काबू पाने के बाद आया है. पीटीआई समर्थित परवेज इलाही पंजाब के नए मुख्यमंत्री बने हैं. इमरान खान की मध्यावधि चुनाव को लेकर भविष्यवाणी के इतर पाकिस्तान के वर्तमान प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ और उनके सहयोगी दल कहते आ रहे हैं कि वे कार्यकाल पूरा करेंगे. बता दें कि चार प्रांतों में से दो में इमरान खान की पार्टी की सरकार है और गिलगिट बाल्टिस्तान और पाक अधिकृत कश्मीर की दो विधानसभाओं में उसका पूरा नियंत्रण है. ऐसे में इमरान खान की पार्टी मजबूत स्थिति में देखी जा रही है.

यह भी पढ़ें- Israeli Guard Raped: इजरायली महिला सैनिक को जेल में बनाया सेक्स गुलाम, फिलिस्तीनी कैदी करता रहा रेप, पता चलने पर पीएम ने लिया यह एक्शन 

ऐसी बताई जा रही इमरान खान की स्थिति

माना जा रहा है कि सत्तारूढ़ पार्टी का नियंत्रण केवल संघीय सरकार पर है जो कि ताश के पत्तों की तरह बिखर सकता है अगर इमरान खान प्रांतीय विधानसभाओं को भंग करने और संघीय सरकार को आम चुनाव के लिए मजबूर करने का फैसला कर लें. इमरान खान कहते आ रहे हैं कि वर्तमान सरकार सत्ता में बने रहने के लायक नहीं है. पाकिस्तान के सत्ता परिवर्तन के लिए उन्होंने अमेरिका पर अस्थिरता पैदा करने का आरोप लगाया था. इमरान खान ने कहा, ”पारदर्शी चुनाव से ही देश में स्थिरता संभव है. लोग राजनीति में धन के लिए आए लेकिन अब जनता जागरूक है. लोगों को पीटीआई से उम्मीदें हैं.”

यह भी पढ़ें- Britain: ब्रिटेन में पीएम पद के लिए रेस जारी, भारतवंशी ऋषि सुनक ने टैक्स को लेकर चला ये दांव 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.