Union Education Minister Dharmendra Pradhan Writes A Letter To WB CM Mamata Over SSC Scam | SSC Scam: केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सीएम ममता बनर्जी को पत्र लिखकर कहा


Education Minister Dharmendra Pradhan: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में शिक्षक भर्ती घोटाले (SSC Scam) को लेकर केंद्र ने चिंता व्यक्त की है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है कि बच्चों के भविष्य से समझौता करना चिंताजनक है, सुनिश्चित करें कि युवाओं का भविष्य खतरे में न पड़े. प्रदेश में लोगों का विश्वास हासिल करने के लिए उचित कदम उठाए जाएं. गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए केंद्र सरकार (Central Government) हर प्रयास करेगी. पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) के खिलाफ एंजेंसियों ने ढेरों सबूत जमा कर लिए हैं.

धर्मेंद्र प्रधान ने इस चिट्ठी में लिखा है कि राज्य में शिक्षा भर्ती में भारा अनियमितता की शिकायतें आ रही हैं. शिक्षक देश के भविष्य का निर्माण करते हैं लेकिन बंगाल में मनोबल टूट गया है, लोगों के विश्वास को धक्का लगा है. शिक्षकों के चयन के लिए साल 2014 में राज्य स्तरीय चयन परीक्षा की शुरूआत हुई थी लेकिन नियुक्ति उसके दो साल बाद साल 2016 में शुरू की गईं. ग्रुप-सी और डी में शिकायतों का अंबार है.

केंद्र सरकार की अधिकतर बैठकों से बंगाल गैर मौजूद

उन्होंने कहा कि शिक्षकों की गुणवत्ता के साथ इस तरह का समझौता बड़ी चिंता का विषय है. शिक्षा के क्षेत्र में भारत को प्रेरणा देने वाले बंगाल (West Bengal) के हालात ऐसे हैं कि युवाओं की आपत्ति पर हाईकोर्ट (Highcourt) को तत्कालीन शिक्षा मंत्री की सीबीआई (CBI) जांच के आदेश देने पड़े. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शिक्षा को लेकर केंद्र की ज्यादातर बैठकों से बंगाल गैरमौजूद ही रहा है. इसको लेकर भी धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने पत्र में लिखा है.

ये भी पढ़ें: SSC Scam: धर्मेंद्र प्रधान का पश्चिम बंगाल सरकार पर हमला- घर से 21 करोड़ की बरामदगी के बाद गिरफ्तारी, मंत्री पद फिर भी बरकरार

ये भी पढ़ें: Bengal SSC Scam: कुछ करने से लेकर खाने-पीने तक…पार्थ और अर्पिता पर लगातार CCTV कैमरों से ED की निगरानी, पूछताछ की भी रिकॉर्डिंग



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.