Pune ICMR-NIV Lab Found Two Cases Were Infected With Monkeypox Virus Strain A.2


Monkeypox Strain A.2 Case: पुणे की आईसीएमआर- एनआईवी (ICMR-NIV) लैब ने यूएई (UAE) से लौटे यात्रियों के 2 मंकीपॉक्स मामलों का विश्लेषण किया. विश्लेषण से पता चला कि दो मामले मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) स्ट्रेन A.2 से संक्रमित थे जो hMPXV-1A क्लैड-3 से संबंधित है. बता दें कि, भारत (India) में अब तक मंकीपॉक्स के नौ मामले सामने आ चुके हैं.

इन नौ मामलों में सबसे ताजा मामला दो दिन पहले दिल्ली में मिला था. यहां 31 वर्षीय नाइजीरियाई महिला इस बीमारी से संक्रमित मिली थी, जो वायरल संक्रमण से पीड़ित होने वाली देश में पहली महिला बनी. महिला को लोक नायक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और पिछले तीन मरीजों की तरह उसका विदेश यात्रा का कोई इतिहास नहीं है. 

देश में 9 केस मिले

इसी बीच दिल्ली में मंकीपॉक्स से संक्रमित पाए गए पहले मरीज को बीते सोमवार को एलएनजेपी अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. कुल 9 मामलों में से 4 मामले दिल्ली के हैं जबकि बाकी 5 केरल से सामने आए हैं. दुनिया के अन्य हिस्सों में भी मंकीपॉक्स के मामले सामने आए हैं, विशेष रूप से पूरे अमेरिका और यूरोप में. 

स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीते बुधवार को वायरल बीमारी पर क्या करें और क्या न करें की सूची भी जारी की थी. केंद्र ने बीमारी को फैलने से रोकने के उपायों के रूप में हैंड सैनिटाइजर के उपयोग, साबुन से हाथ धोने और मुंह को मास्क से ढकने की बात कही थी. केंद्र ने मंकीपॉक्स से संक्रमित लोगों के साथ बिस्तर, कपड़े, तौलिये आदि साझा करने के खिलाफ भी सलाह दी है. 

डब्ल्यूएचओ ने किया ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में मंकीपॉक्स (Monkeypox)को ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित किया था. 75 से अधिक देशों ने वायरल बीमारी के प्रकोप की पुष्टि की है, जिसमें मामले 25,000 को पार कर गए हैं. जिन देशों में ये बीमारी तेजी से फैली है उनमें ब्राजील, स्पेन, अमेरिका, जापान, फ्रांस, जर्मनी, इजरायल और यूईए शामिल हैं. 

ये भी पढ़ें- 

Monkeypox Vs Smallpox: स्मॉलपॉक्स से कितना अलग है मंकीपॉक्स? ना हों कंफ्यूज, ऐसे समझें अंतर

Explained: अमेरिका में मंकीपॉक्स को लेकर हेल्थ इमरजेंसी का एलान, क्या आपको भी चिंता करना चाहिए?



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.