President Draupadi Murmu Said Name Draupadi Given By Her School Teacher


President Draupadi Murmu Update: द्रौपदी मुर्मू ने आज देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमण (Chief Justice of Supreme Court NV Raman) ने उन्हें संसद भवन के सेंट्रल हॉल (Central Hall) में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. शपथ ग्रहण के बाद द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) ने बतौर राष्ट्रपति देश के नाम अपना संबोधन दिया.

इस दौरान उन्होंने अपनी शिक्षा और संघर्ष के दिनों का जिक्र कर लोगों को प्रेरित किया. आप में से बहुत कम ही लोग जानते होंगे की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बचपन का नाम कुछ और था. जिसे उनके स्कूल टीचर ने बदल कर उन्हें महाभारत (Mahabharat) के एक चरित्र पर आधारित नाम दिया था. 

टीचर ने इसलिए बदला नाम

आपको बता दें कि उन्होंने कुछ दिन पहले ही ओडिशा से प्रकाशित होने वाली एक वीडियो पत्रिका को दिए एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था. उन्होंने अपने इंटरव्यू में बताया कि उनके बचपन का संथाली नाम “पुती” था जिसे उनके टीचर ने बदलकर द्रौपदी कर दिया था. राष्ट्रपति मुर्मू ने पत्रिका को दिए अपने इंटरव्यू में बताया कि, “द्रौपदी मेरा मूल नाम नहीं था. यह मेरे शिक्षक द्वारा दिया गया था, जो मेरे मूल मयूरभंज से नहीं, बल्कि दूसरे जिले से थे.” उन्होंने दावा किया कि आदिवासी बहुल मयूरंझ जिले के शिक्षक 1960 के दशक में बालासोर या कटक से यात्रा करते थे.

राष्ट्रपति ने बताया कि, “शिक्षक को मेरा पिछला नाम पसंद नहीं आया और इसे अच्छे के लिए बदल दिया.” उन्होंने पत्रिका को बताया कि उन्हें इसलिए द्रौपदी कहा जाता है, क्योंकि ये ‘महाभारत’ के चरित्र से मिलता-जुलता नाम है. उन्होंने बताया कि उनका नाम को कई बार “दुरपदी” से “दोरपडी” में बदला गया था. संथाली संस्कृति में नाम नहीं मरते. उन्होंने अपने इंटरव्यू में बताया कि अगर संथाली समाज में एक लड़की पैदा होती है, तो वह अपनी दादी का नाम लेती है, जबकि एक लड़के के पैदा होने पर उसे उसके दादा का नाम दिया जाता है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उनका स्कूलों और कॉलेजों में उपनाम टुडू था लेकिन एक बैंक अधिकारी श्याम चरण टुडू से शादी करने के बाद उन्होंने अपने नाम के आगे मुर्मू लगाना शुरू कर दिया.  

इसे भी पढ़ेंः-

RBI Office Attendant: रिजर्व बैंक ने 4 बैंक पर लगाया बैन, अब पैसे की निकासी हुई सीमित

Govinda On Karan Johar: गोविंदा ने क्यों कहा था- ‘करण जौहर हैं सबसे जलने वाले शख्स’, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.