Opposition Attacking The Ruling Partys Statements In Rajya Sabha Demanding Removal Of The Deputy Speaker From The Proceedings ANN


Parliament Monsoon Session: संसद (Parliament) के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) के दूसरे सप्ताह भी हंगामेदार रहा. एक ओर लोकसभा (Lok Sabha) में जहां कांग्रेस के 4 सांसद (Suspended 4 MP of Congress) निलंबित हो गए वहीं राज्यसभा (Rajya Sabha) में भी जमकर नारेबाजी हुई. संसद (Parliament) के मॉनसून सत्र के दूसरे सप्ताह के पहले दिन भी लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही ढंग से नहीं चल सकी. लोकसभा की कार्यवाही दोपहर तीन बजे के बाद स्थगित हो गई जबकि राज्यसभा की कार्यवाही लगातार व्यवधान के साथ पूरी हुई.

कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष के सांसद दोनों सदनों में सदन की कार्यवाही को रोक कर मंहगाई पर चर्चा की मांग कर रहे हैं. इसके लिए विपक्ष के सांसद इस मॉनसून सत्र के पहले दिन यानी 18 जुलाई से ही  “चर्चा हो चर्चा हो, मंहगाई पर चर्चा हो” के नारे लगा रहे हैं. 

लोकसभा के 4 सांसद निलंबित
लोकसभा में मंहगाई पर चर्चा की मांग करते हुए नारे लगा रहे सांसद कई दिनों से सदन के भीतर अपने हाथों में नारे लिखी हुई हुई तख़्तियां ले कर प्रदर्शन कर रहे थे. स्पीकर ओम बिरला ने ऐसा न करने के निर्देश सत्र शुरू होने से पहले ही जारी कर दिए थे लेकिन न मानने पर आज चेयर ने कांग्रेस के इन चार सांसदों को पूरे मॉनसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया. निलंबित सांसदों में जोतिमणि, राम्य हरिदास, मणिकम टैगोर और टीएन प्रतापन शामिल हैं. 

राज्यसभा में सदन की कार्यवाही का हाल 
राज्यसभा में पहले 2 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष के विरोध के चलते सभा की कार्यवाही 3 बजे तक के लिए स्थगित हो गई थी. इसके बाद 3 बजे से राज्यसभा में विपक्ष के सांसद लगातार प्रधानमंत्री सदन में आओ के नारे लगा रहे थे. मंहगाई के खिलाफ नारे लगा रहे थे. इसी के बाद राज्यसभा एक बार फिर 4 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. 4 बजे से फिर राज्यसभा में जमकर हंगामा चलता रहा. प्रोहिबिशन ऑफ अनलॉफुल एक्टिविटीज संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान विपक्ष के सांसद लगातार नारे लगाते हुए तख़्तियां लहराते रहे. इसके कारण एक बार फिर 4:50 बजे सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित की गई. 

राज्यसभा में विवाद नम्बर – 1
बीजेपी के मनोनीत सांसद महेश जेठमलानी ने वेपंस ऑफ मास डिस्ट्रक्शन सम्बंधी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान नारे लगा रहे विपक्ष के सांसदों के लिए कहा कि – ये सब लोग सबसे अधिक मास डिस्ट्रक्शन वेपन हैं इस देश के लिए. इस पर आरजेडी सांसद मनोज झा, आप सांसद राघव चड्ढा और तृणमूल कांग्रेस सांसद सुखेन्दू शेखर रॉय ने रूल बुक का हवाला देते हुए आपत्ति की और इसे सदन की कार्यवाही से एक्स्पंज करने की मांग की, जिसपर पीठासीन सस्मित पात्रा ने कहा कि इसे चेक किया जाएगा. 

राज्यसभा में विवाद नम्बर -2 
राज्यसभा (Rajya Sabha) में बीजेपी सांसद अजय प्रताप सिंह (BJP MP Ajay Pratap Singh) ने कहा कि मुस्लिम (Muslim) ‘ला इलाह इल्लअल्लाह रसूल उलल्लाहाह बोलते हैं’ यानी अल्लाह के अलावा कोई दूसरा ईश्वर नहीं है और मुहम्मद (Muhammad) ही उसके पैगंबर हैं. इसी कारण बेगुनाह मारे जा रहे हैं आतंकवादियों (Terrorist) के हाथों. इस पर केरल (Kerala) के सीपीआई सांसद (CPI MP) बिनॉय विश्वम ने आपत्ति की. उपसभापति की चेयर से कहा गया कि कुछ भी आपत्तिजनक होगा तो कार्यवाही से हटाया जाएगा.

ये भी पढ़ें:

Vice President Election 2022: धनखड़ उपराष्ट्रपति पद का चुनाव जीते तो रच देंगे इतिहास, जानिए राजस्थान से और कौन रहा है वाइस प्रेसिडेंट

Vice President Election 2022: पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को NDA ने बनाया अपना उम्मीदवार, जानिए अब तक कितने राज्यपाल बने उप राष्ट्रपति



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.