NIA Arrests One Accused Involved In Activities Of ISIS Module Case From Delhi With The Help Of Jamia Students ANN


NIA Arrest ISIS Terrorist: जामिया में पढ़ने वाले बच्चों की सूचना के आधार पर आईएसआईएस (ISIS) का आतंकवादी पकड़ा गया है. आरोपी आतंकी अफगानिस्तान, सीरिया (Syria) में मौजूद अपने कमांडरों को क्रिप्टो करेंसी के जरिए फंड भेजता था. आरोपी जामिया (Jamia) में पढ़ने वाले बच्चों को आईएसआईएस की विचारधारा से प्रभावित कर रहा था. पिछले 6 महीने से नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने इस पर निगाह रखी हुई थी.

एनआईए ने आईएसआईएस मॉड्यूल मामले की गतिविधियों में शामिल आरोपी के घर की तलाशी ली और उसे गिरफ्तार किया. एनआईए ने आरोपी मोहसिन अहमद के आवासीय परिसरों में तलाशी ली. आरोपी वर्तमान में जापानी गली, बाटला हाउस दिल्ली में रह रहा था. 

एनआईए लगातार कर रही छापेमारी

बीते रविवार को ही एनआईए ने आईएसआईएस से जुड़ी गतिविधियों के सिलसिले में छह राज्यों में संदिग्धों के 13 परिसरों की तलाशी ली थी. एनआईए ने मध्य प्रदेश, गुजरात, बिहार, कर्नाटक, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में छापेमारी की थी. एजेंसी ने मध्य प्रदेश के भोपाल और रायसेन जिलों में छापेमारी की, गुजरात में भरूच, सूरत, नवसारी और अहमदाबाद जिले और बिहार में अररिया जिले, कर्नाटक में भटकल और तुमकुर शहर जिले, महाराष्ट्र में कोल्हापुर और नांदेड़ जिले और उत्तर प्रदेश में देवबंद जिले में छापेमारी की थी.

  

तलाशी में आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई

एनआईए द्वारा 25 जून, 2022 को आईपीसी की धारा 153 ए और 153 बी और यूए (पी) अधिनियम की धारा 18, 18 बी, 38, 39 और 40 के तहत मामला दर्ज किया गया था. एनआईए (NIA) को तलाशी में आपत्तिजनक दस्तावेज/सामग्रियां बरामद हुई थीं. जहां ये तलाशी ली गई थी, इन संपत्तियों के मालिक सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया से जुड़े लोग हैं. बता दें कि, बिहार पुलिस (Bihar Police) ने हाल ही में पीएफआई (PFI) टेरर मॉड्यूल मामले का खुलासा करते हुए भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. 

ये भी पढ़ें- 

Amravati Murder Case: NIA का दावा- उमेश कोल्हे की हत्या के बाद हुई थी ‘बिरयानी पार्टी’, 2 आरोपियों को हिरासत में भेजा गया

Jammu Kashmir News: कुलगाम में सुरक्षबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में एक नागरिक की मौत, जवान घायल



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.