National Herald Case Congress Said Narendra Modi Not Peacefully Faced SIT Equiry On Gujarat Riots | National Herald Case: कांग्रेस ने BJP को याद दिलाई गुजरात दंगों की जांच, कहा


National Herald Case Update: नेशनल हेराल्ड केस (National Herald Case) में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) की ईडी (ED) से समक्ष पेशी को लेकर पार्टी का विरोध प्रदर्शन जारी है. कांग्रेस (Congress) ने बीजेपी (BJP) नेताओं के इस विरोध प्रदर्शन की आलोचना को लेकर पलटवार किया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शक्ति सिंह गोहिल (Shakti Singh Gohil) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और बीजेपी पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा इस बात में कोई दम नहीं है कि जब गुजरात (Gujarat) के मुख्यमंत्री रहते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विशेष जांच दल (SIT) के समक्ष बुलाया गया था तब भारतीय जनता पार्टी और मोदी ने कोई विरोध नहीं किया था.

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘सोशल मीडिया और कुछ चुनिंदा मीडिया के जरिये यह बताने का कोशिश कर रहे हैं कि मोदी जी को भी एसआईटी ने बुलाया था और उस वक्त वो शांति से एसआईटी के सामने चले गए थे. यह सरासर झूठ है कि मोदी जी को जब एसआईटी के सामने बुलाया था तब, भाजपा और मोदी जी ने कोई भी विरोध नहीं किया था.’’

राज्यपाल के खिलाफ लगाएं थे बुरे-बुरे नारेः कांग्रेस

उन्होंने दावा किया, ‘‘जब मोदी जी को एसआईटी के सामने बुलाया गया तब भाजपा ने पूरे गुजरात में कांग्रेस और संप्रग सरकार एवं राज्य के राज्यपाल के खिलाफ बहुत बुरे-बुरे नारे दीवारों पर लिखवाये थे और कहीं-कहीं पर जुलूस निकाल कर भाजपा के लोगों ने नारेबाजी की थी.’’

कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने बीजेपी पर हमला जारी रखते हुए कहा, ‘‘यह भी गलत है कि मोदी जी सीधे ही एसआईटी के सामने पेश हो गए थे. एसआईटी के सामने ना पेश होने के लिए उस वक्त भी भाजपा के विधायक कालू मालिवाड़ जी को उच्च न्यायालय भेजा गया था. उच्च न्यायालय ने भाजपा विधायक की याचिका खारिज कर दी. इसके बाद उच्चतम न्यायालय का रुख किया गया था, लेकिन वहां से भी कोई राहत ना मिलने के बाद मोदी जी एसआईटी के सामने पेश हुए थे.’’

दिल्ली पुलिस ने नहीं दी कांग्रेस को परमीशन

सोनिया गांधी की प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष दूसरी बार पेशी को लेकर गोहिल ने दावा किया कि कांग्रेस ने राजघाट (Raajghat) पर धरने का आग्रह किया था, लेकिन दिल्ली पुलिस (Delhi Police) से अनुमति नहीं मिली. उन्होंने कहा, ‘‘राज घाट पर अंदर की ओर धरने की अनुमति दी गई, लेकिन यह कहा गया कि मीडिया वहां नहीं आ सकता, टेंट नहीं लगाया जा सकता, माइक नहीं लगा सकते और लोगों को बसों से नहीं ला सकते.’’ गोहिल ने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर मंगलवार को संसद के भीतर और बाहर कड़ा विरोध दर्ज कराएगी.

सोनिया गांधी मंगलवार को अगले दौरे की पूछताछ के लिए ईडी के समक्ष पेश होंगी. ईडी ने ‘नेशनल हेराल्ड’ अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बृहस्पतिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से दो घंटे तक पूछताछ की थी. वहीं, इसके विरोध में पूरे देश में कांग्रेस ने शक्ति प्रदर्शन किया और पार्टी के नेताओं ने गिरफ्तारियां दी थीं.

इसे भी पढेंः-

Kargil Vijay Diwas: करगिल के वो 10 हीरो, जिनके शौर्य के आगे पाकिस्तान हुआ पस्त, जाने कैसे भारतीय वीरों ने दुश्मनों के छुड़ाए छक्के

UP Politics: बसपा से उम्मीद लगाए बैठे ओपी राजभर के लिए मायूसी भरी खबर, आकाश आनंद ने गठबंधन के दावों पर कही ये बात



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.