Maharashtra Patra Chawl Land Scam Shiv Sena Leader Sanjay Raut Sent To ED Custody Till 8 August


Sanjay Raut ED Custody: महाराष्ट्र के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले (Patra Chawl Land Scam) में ईडी की जांच पड़ताल जारी है. इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) को राहत नहीं मिली है. कोर्ट ने संजय राउत की ईडी कस्टडी (ED Custody) बढ़ा दी है. अदालत ने संजय राउत को 8 अगस्त तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया है. पिछली कस्टडी में खुलासा हुआ था कि अलीबाग में जमीन के लेन-देन में ज्यादा पैसा लगाए गए थे. पिछली रिमांड के दौरान पूछताछ में कैश का ब्योरा सामने आया था. 
ईडी की टीम इस नतीजे पर पहुंची है कि आरोपी यानी कि संजय राउत की पत्नी को 1.06 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए. 

ईडी (ED) के मुताबिक पिछली जांच कई नए तथ्यों का खुलासा करने लायक साबित हुई. लगभग 1.08 करोड़ रुपये के कुछ लेन-देन पाए गए और 1.17 करोड़ रुपए कैश के रूप में थे और उसी से संबंधित लेन-देन का पता चला था.

संजय राउत को राहत नहीं

पात्रा चॉल मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत के लिए आज एडवोकेट मनोज मोहिते ने जिरह किया. उन्होंने ईडी की कस्टडी का विरोध किया. उन्होंने कहा कि 
सब राजनैतिक है. कुछ लोगों को पकड़ा जाता है और कुछ लोगों को छोड़ दिया जाता है. उन्होंने कोर्ट में कहा कि अब संजय राउत को ED कस्टडी में भेजने की जरूरत नहीं है. फिलहाल कोर्ट ने संजय राउत को कोई राहत न देते हुए फिर से 8 अगस्त तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया है

स्वप्ना पाटकर के वकील का क्या कहना था?

उधर, स्वप्ना पाटकर के वकील ने कोर्ट में कहा कि कि उन्हें धमकाया गया है और मुझे मेरा पक्ष रखना है. इस पर कोर्ट ने कहा कि मैं आपकी क्यों सुनूं.  अभी रिमांड पर सुनवाई चल रही है, आपका लोकस क्या है? आरोपी ED की कस्टडी में है, फिर ये कैसे आपको धमका रहे हैं? कोर्ट ने ED से कहा कि आप अपनी एप्लिकेशन में बताइए कि इसे क्यों सुना जाए. ये ज़मानत पर सुनवाई नहीं चल रही है. किस नियम के हिसाब से आप इंटरविन कर रहे हैं?

ईडी के वकील ने क्या कहा?

ईडी के वकील ने कहा कि मैंने स्वप्ना पाटकर का बयान कोर्ट के सामने रखा है, इससे ज़्यादा और कुछ नहीं कहना है. ED ने संजय राउत की कस्टडी 10 अगस्त तक मांगी थी. 
ईडी के वकील हितेन वेनेगावकर ने कहा कि हमें कुछ दस्तावेज मिले हैं, जिसमें कई खुलासे हुए हैं. मनी ट्रेल की जानकारी मिली है, जो कई लोगों को कैश में दी गई है. जांच के दौरान हमें पता चला है कि प्रोसिडस ऑफ़ क्राइम में 1.17 करोड़ और आए हैं. इसके पहले हमें 1.06 करोड़ की जानकारी मिली थी. रिमांड में ED ने उन तमाम लोगों के नाम लिखे हैं, जिसे पैसे गए हैं. 

संजय राउत की क्या है मांग?

पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले (Patra Chawl Land Scam) में रिमांड खत्म होने के बाद कोर्ट में पेश हुए संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि जहां उन्हें रखा जाता है, वहां वेंटिलेशन नहीं है. मुझे हार्ट प्रॉब्लम है, इस वजह से सांस लेने में दिक्कत होती है. जहां उन्हें रखा जाता है वहां एक पंखा है. वहीं, ईडी (ED) ने कोर्ट के सवाल पर कहा कि इन्हें एसी में रखा गया है. संजय राउत ने कहा कि मैंने नहीं देखा, वहां बस पंखा है. संजय राउत ने ये भी कहा कि कोई दूसरा रूम मिले जहां वेंटिलेशन (Ventilation) हो क्योंकि मैं एसी नहीं चलाता क्योंकि सांस लेने में तकलीफ होती है.



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.