M Appavu Says Tamil Nadu Would Have Been Bihar If Catholic Christians Not There BJP Calls DMK Anti Hindu Party | ‘तमिलनाडु बिहार बन जाता अगर ईसाई नहीं होते’, DMK नेता के विवादित बयान पर BJP ने पूछा


M Appavu Controversial Statement: तमिलनाडु विधानसभा अध्यक्ष (Tamil Nadu Assembly Speaker) और द्रमुक (DMK) नेता एम अप्पावु (M Appavu) का महीनेभर पुराना एक विवादित बयान (Controversial Statement) अब वायरल (Viral) हो रहा है. एम अप्पावु ने कहा था कि कैथोलिक ईसाई (Catholic Christians ) नहीं होते तो तमिलनाडु (Tamil Nadu) बिहार (Bihar) बन जाता. बीजेपी (BJP) ने अप्पावु के इस बयान को लेकर डीएमके पर हिंदू विरोधी पार्टी (Anti Hindu Party) होने का आरोप लगाया है. वहीं, द्रमुक नेता ने कहा है कि बीजेपी राजनीति कर रही है.

अपने बयान में एम अप्पावु ने कहा था, ”अगर ईसाई फादर और सिस्टर नहीं होते तो तमिलनाडु बिहार की तरह बन जाता. कैथोलिक फादर और सिस्टर की मदद की वजह से आज मैं इस मुकाम पर हूं. तमिलनाडु सरकार आपकी सरकार है. आपने इस सरकार को बनाया है. आपकी प्रार्थनाओं और उपवास ने इस सरकार का गठन किया है. कैथोलिक ईसाई और ईसाई फादर सामाजिक न्याय और द्रविड़ मॉडल सरकार के लिए मुख्य वजह हैं.”

विवादित बयान में अप्पावु ने आगे यह कहा था

अप्पावु ने आगे कहा था, ”आपको (कैथोलिक ईसाई) किसी पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है. आप अपनी समस्याओं की सूची बनाइये और सीधे मुख्यमंत्री को दीजिए. वह किसी चीज के लिए मना नहीं करेंगे और सबका समाधान निकालेंगे क्योंकि सीएम को पता है कि आप उनकी सरकार की वजह हैं. यह आपकी सरकार है और सीएम आपके हैं. इसमें मैं आपके साथ हूं. अगर ईसाइयों को तमिलनाडु से हटा दिया जाता है तो यहां कुछ भी विकास नहीं होगा. कैथोलिक ईसाई तमिलनाडु के विकास के लिए मुख्य वजह हैं. आज तमिलनाडु आपके कंधों पर खड़ा है.”

यह भी पढ़ें- Breaking News Live: उद्धव ठाकरे का शिंदे गुट पर बड़ा हमला, बोले- पतझड़ से सड़े पत्ते झड़ गए

बीजेपी नेता ने अप्पावु के बयान पर यह कहा

एम अप्पावु का यह बयान महीनेभर बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. तमिलनाडु बीजेपी के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता नारायणन ने सोशल मीडिया के माध्यम से ही अप्पावु के जरिये डीएमके पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ”क्या यह डीएमके की धर्मनिरपेक्षता है?  उन्होंने खुद को एक धर्मनिरपेक्ष पार्टी कहने का दावा खो दिया है. अब यह साबित करता है कि डीएम एक हिंदू विरोधी पार्टी है.” एम अप्पावु ने कहा कि उन्होंने बयान दिया था लेकिन उसके छंटे हुए हुस्से वायरल किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ”मैंने जो कुछ भी कहा वह सिर्फ इतिहास है, उस पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए.”

यह भी पढ़ें- Kargil Vijay Diwas: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अपने पहले ट्वीट में किन वीर बहादुरों को किया है सलाम, जानिए



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.