Kerala New Monkeypox Case Reported In Malappuram Health Minister Veena George


Monkeypox Case In Kerala: भारत में मंकीपॉक्स वायरस (Monkeypox Virus) के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं. केरल में मंकीपॉक्स का एक और नया मामला सामने आने से सरकार की चिंता बढ़ गई है. केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीन जॉर्ज (Kerala Health Minister Veena George) ने बताया कि मलप्पुरम में एक 30 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स वायरस से संक्रमित पाया गया है जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि वह 27 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से कोझीकोड हवाई अड्डे (Kozhikode Airport) पर पहुंचा था और मलप्पुरम के मंजेरी मेडिकल कॉलेज में उसका इलाज चल रहा था. आपको बता दें कि केरल में मंकीपॉक्स वायरस का ये पांचवां मामला है. 

केरल में मौत के बाद 20 लोगों को किया गया आइसोलेट

आपको बता दें कि बीते शनिवार 30 जुलाई को केरल के त्रिशूल में एक 22 साल के व्यक्ति की मौत हो गई थी. मृतक युवक में मंकीपॉक्स के लक्षण पाए गए थे और वह कुछ समय पहले ही संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा कर भारत लौटा था. युवक की मौत के बाद उसके संपर्क में आए 20 लोगों को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आइसोलेट कर दिया था. हांलाकि, अब उन्हें छोड़ दिया गया है. अधिकारियों ने पुष्टि पीड़ित परिवार के सदस्यों और दोस्तों सहित केवल 10 लोगों के संपर्क में आया था. 

मंकीपॉक्स के लक्षण

मंकीपॉक्स वायरस के कारण होने वाला एक जूनोटिक रोग है, जो वायरस के एक ही परिवार से संबंधित है जो चेचक का कारण बनता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मंकीपॉक्स के लक्षण 6 से 13 दिन के अंदर दिखाई देने लगते हैं. हालांकि कई बार 5 से 21 दिन का समय भी ले सकता है. संक्रमित होने पर अगले 5 दिन के अंदर बुखार, सिरदर्द, थकान और पीठ में दर्द जैसे लक्षण दिखते हैं. बुखार होने के तीन दिन के अंदर त्वचा पर दाने आने लगते हैं. मंकीपॉक्स भले कोरोना जैसे फैल रहा है लेकिन ये कोविड जितना खतरनाक नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः-

Al-Zawahiri Killed: अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया अलकायदा का चीफ अल-जवाहिरी, बाइडेन बोले- अब इंसाफ हुआ

अब Aadhaar से लिंक होगी आपकी Voter ID, चुनाव आयोग ने शुरू किया अभियान, जानें क्या है खास



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.