Karnataka Animal Husbandry Minister Prabhu B Chavan Adopted 31 Cows Under Punyakoti Dattu Yojana


Punyakoti Dattu Yojana: कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Karnataka Chief Minister Basavaraj Bommai) ने गुरुवार को ‘पुण्यकोटि दत्तू योजना’ (Punyakoti Dattu Scheme) के पोर्टल को लॉन्च कर दिया. इसके बाद कर्नाटक (Karnataka) के पशुपालन मंत्री प्रभु बी चव्हाण (Animal Husbandry Minister Prabhu B Chavan) ने गुरुवार के दिन 31 गायों (Cow) को गोद लिया है. उन्होंने ‘पुण्यकोटि दत्तू योजना’ (Punyakoti Dattu Scheme) के तहत ऐसा किया है. यह राज्य सरकार की गाय को गोद लेने की योजना का पोर्टल है. जिसका उद्देश्य राज्य के सरकारी और निजी गोशालाओं (Gaushala) में रह रही गायों की हालत में सुधार करना है. 

फिलहाल पशुपालन मंत्री प्रभु बी चव्हाण ने राज्य के सरकारी और निजी गोशालाओं में 31 गायों को गोद लिया है. इस संबंध में बात करते हुए उन्होंने बताया कि गोद लेने का उनका उद्देश्य उन्हें पोषण और देखभाल प्रदान करना है. इससे पहले भी पशुपालन मंत्री प्रभु बी चव्हाण गायों को गोद ले चुके हैं. उन्होंने अपने जन्मदिन पर बीदर गोशाला में गायों को गोद लिया था.

मंत्रियों, विधायकों और लोगों से गाय गोद लेने की अपील

पशुपालन मंत्री प्रभु बी चव्हाण ने ‘पुण्यकोटि दत्तू योजना’ को आगे बढ़ाने और सफल बनाने के लिए राज्य के मंत्रियों, विधायकों, लोगों और संगठनों से गायों को अपनाने का आग्रह किया है. उनका कहना है कि राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने अपने जन्मदिन पर राष्ट्रोत्थान गोशाला में 11 गायों को गोद लिया था, जो कि सभी के लिए एक उदाहरण पेश करता है.

पोर्टल पर 123 गोशालाएं रजिस्टर्ड

बी चव्हाण ने जानकारी दी है कि सरकारी और निजी गोशालाओं में उनके समेत जनता ने  100 गायों को गोद लिया है. इसके अलावा 1,314 लोगों ने गोशालाओं को दान दिया है. वहीं राज्य भर में पुण्यकोटि दत्तू योजना पोर्टल पर 123 गोशालाएं रजिस्टर्ड हैं. उनका कहना है कि  60 गोशालाओं का रजिस्ट्रेशन प्रॉसेस अभी जारी है. उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 16,650 मवेशियों का पंजीकरण किया गया है.

पुण्यकोटि दत्तू योजना लागू करने वाला पहला राज्य बना कर्नाटक

पशुपालन मंत्री प्रभु बी चव्हाण (Animal Husbandry Minister Prabhu B Chavan) का कहना है कि गोहत्या निषेध अधिनियम (Cow Slaughter Prohibition Act) के लागू होने के बाद राज्य के हर जिलों में एक सरकारी गौशाला (Government Gaushala) स्थापित की गई है. वहीं पुण्यकोटि दत्तू योजना (Punyakoti Dattu Scheme) के लागू होने से कर्नाटक (Karnataka) देश का पहला राज्य बन गया है जिसने इस तरह का कोई कार्यक्रम शुरू किया है. फिलहाल योजना का उद्देश्य जनता के सहयोग से गौशालाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाना है.

इसे भी पढ़ेंः
Rashtrapatni Remark: लोकसभा में कांग्रेस-बीजेपी में जमकर बवाल, सोनिया गांधी बोलीं- ‘अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांगी’ | 10 बड़ी बातें

Explained: एचआईवी और कैंसर दोनों से जीती जंग, यूएस के मरीज की कहानी ने जगाई बड़ी उम्मीद



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.