India Weather Forecast Monsoon Rainfall In Tamil Nadu Karnataka Uttarakhand Flood In UP And Madhya Pradesh


Heavy Rainfall in India: देश के कई हिस्सों में मानसून (Monsoon) एक्टिव है. उत्तर भारत (North India) से लेकर दक्षिण भारत (South India) तक बारिश (Heavy Rain) और बाढ़ (Flood) से लोगों की मुसीबत बढ़ी हुई है. पहाड़ों से लेकर मैदान तक तेज बारिश की वजह से लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त है. उत्तराखंड के चमोली, धारचूला समेत कई और हिस्सों में भारी बारिश लोगों के लिए आफत बनकर आई है. मध्य प्रदेश में रतलाम से लेकर ढिंढोरी तक बारिश से भारी बर्बादी हुई है. वहीं, पूर्वांचल में भी कुछ नदियां उफान पर है. दक्षिण भारत में भी बारिश कहर बनकर टूटी है.

कर्नाटक और केरल में बाढ़ का दायरा बढ़ता दिखा, तो तमिलनाडु के कई हिस्सों को भी बाढ़ ने चपेट में ले लिया है. तमिलनाडु के कृष्णागिरी जिले में गोदावरी नदी उफान पर है. पानी का बहाव काफी तेज दिखा. उफनती गोदावरी नदी की वजह से सब कुछ डूबा नजर आ रहा है. पानी में फंसे एक बुजुर्ग दंपत्ति का रेस्क्यू किया गया.

तमिलनाडु में भारी बारिश से गोदावरी नदी उफान पर

तमिलनाडु के कृष्णागिरी जिले में भारी बारिश की वजह से गोदावरी नदी उफान पर आने के बाद एक बुजुर्ग दंपति सैलाब में घिर गया. नदी के तट पर बालामुरुगन मंदिर के पास ये बजुर्ग दंपति रहता है. नदी के उफान से पहले ही प्रशासन ने अलर्ट जारी किया और लोगों से सुरक्षित ठिकाने पर जाने की अपील की, लेकिन ये बुजुर्ग दंपति नहीं माना. जब पानी और बढ़ा और कटान होने लगी तो ये दंपति मुश्किल में फंस गए. लिहाजा प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया. पुलिस और फायर ब्रिगेड की मदद से पहले बुजुर्ग महिला को स्ट्रेचर नुमा प्लेट पर लिटाया गया और फिर रस्सी के सहारे खींचकर सुरक्षित निकाला गया

कर्नाटक में लगातार बारिश से आफत

कर्नाटक में 1 जून से लगातार बारिश हो रही है. 11 जिलों में पानी तबाही मचा रहा है. पिछले 2 महीनों में 40 लोगों की जान बाढ़ ने ली है. तो करीब ढाई हजार घर जमींदोज हो चुके हैं. इसके अलावा राज्य में 4 हजार से ज्यादा हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो चुकी है. 1730 किलोमीटर सड़कें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं. 5419 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों को नुकसान पहुंचा है. सीएम बसवराज बोम्मई लगातार बाढ़ प्रभावित इलाकों की जानकारी ले रहे हैं. युद्ध स्तर पर बचाव और पुनर्वास कार्य शुरू करने के साथ मुआवजा देने के भी निर्देश दिए गए है. 

केरल में भी नदियां उफान पर

केरल में भी नदियों का उफनता पानी हर किसी को खौफ से भर रहा है. प्रदेश के कोट्टायम, इडुक्की, एर्नाकुलम जैसे जिलों में हालात ज्यादा बिगड़े हुए दिख रहे हैं. लगभग हर दिन केरल में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी हो रहे हैं. मानसून की शुरुआत के बाद से ही केरल में भारी बारिश हो रही है. कई जगह जमीन और पहाड़ खिसकने की घटनाएं भी सामने आ रही हैं. रविवार से केरल में बारिश से जुड़ी घटनाओं की वजह से 12 लोगों की जान जा चुकी है.

असम के कई इलाकों में बाढ़

असम के कई इलाकों में बाढ़ से लोगों की मुसीबत खत्म नहीं होती दिख रही है. धेमाजी जिले में शहर से 25 किलोमीटर अंदर खाना कृष्णापुर नाम के गांव में इतना पानी है कि यहां नाव चलानी पड़ रही है. बच्चे नाव के जरिए स्कूल जा रहे हैं. कई इलाकों में बाढ़ की वजह से पीने का साफ पानी उपलब्ध नहीं है. पीने के साफ पानी के लिए लोग जद्दोजहद कर रहे हैं.

उत्तराखंड में बारिश से आफत

दक्षिण भारत में बारिश आफत बनकर टूटी है तो वहीं, उत्तर भारत में भी लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. पहाड़ी इलाके में लैंड स्लाइड और नदियों के उफान से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. उत्तराखंड के धारचूला में भारी बारिश की वजह से तवाघाट छिरकिला मोटरमार्ग के पास नाले के ऊपर बनी सड़क बह गई और लोग जान जोखिम में डालकर आने जाने को मजबूर हो गए. स्कूली बच्चे पानी के तेज बहाव के बीच रास्ता पार करने की कोशिश करते दिखे. उधर, रुद्र प्रयाग में बारिश की वजह से लैंडस्लाइड मुसीबत बन गई. नरकोटा के पास पहाड़ी टूटने से सड़क पर मलबा आ गया और लोगों की मुश्किलें बढ़ गईं. चमोली में भी बारिश से लोगों के लिए आफत बनकर आई.

मध्य प्रदेश में बारिश से मुसीबत फिर बढ़ी

मध्य प्रदेश में एक बार फिर बारिश मुसीबत बनकर आई है. रतलाम से लेकर ढिंढोरी तक बारिश से भारी तबाही दिखी. कई इलाकों में दो फीट से ज्यादा पानी जमा हो गया. रतलाम जावरा बाजार थोड़ी सी बारिश में जलमग्न हो गया. सरकारी अस्पताल से लेकर कई मोहल्ले पूरी तरह से पानी में डूबे नजर आए.  ढिंढोरी जिले के करंजिया क्षेत्र में आने वाले पाटनगढ़ में बारिश की वजह से स्कूल की बिल्डिंग धाराशायी हो गई. गनीमत रही कि ये हादसा रात के वक्त हुआ. कई इलाकों में जलजमाव की समस्या काफी गंभीर दिख रही है.

पूर्वांचल के कई जिलों में नदियां उफान पर

भारी बारिश (Heavy Rain) की वजह से यूपी (Uttar Pradesh) के पूर्वांचल के कई जिलों में नदियां (Rivers) उफान पर हैं. बलिया जिले में घाघरा नदी ने दौद्र रूप अपना लिया है. ऐसे में नदी किनारे बसे गांव में बाढ़ (Flood) से डूबने का खतरा मंडराने लगा है. नदी की तेज धारा की वजह से लगातार कटान हो रही है. मनियर ब्लॉक के खादीपुर से लेकर मलाहीचक गांव के पास नदी के दोनों छोर पर ऐसे ही कटान होती जा रही है. खादीपुर गांव पानी में समा गया है और नदी की धारा मलाहीचक गांव को अपने आगोश में लेने को बेताव दिखी. लोगों का आरोप है कि प्रशासन की ओर से कोई सुध लेने नहीं आया.

ये भी पढ़ें:

Indian Navy: महिलाओं ने फिर दिखाया दम! अरब सागर पर निगरानी मिशन पूरा कर रचा इतिहास

सांप काटने से हुई थी मौत, भाई का अंतिम संस्कार कर लौटे शख्स को भी सांप ने डसा, गई जान



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.