DHFL ED Case Yes Bank-DHFL Scam ED Has Attached Builder Avinash Bhonsle Sanjay Chhabria Assets


Yes Bank-DHFL Scam: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने येस बैंक- दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) से संबंधित बैंक लोन धोखाधड़ी मामले के सिलसिले में महाराष्ट्र के बिल्डर अविनाश भोंसले और संजय छाबड़िया की 415 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है. दोनों बिल्डर को संघीय एजेंसी ने मामले की जांच के सिलसिले में जून में हिरासत में लिया था और अभी दोनों ही न्यायिक हिरासत में हैं.

दोनों वधावन और राणा के खिलाफ मामला दर्ज
प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत भोंसले की 164 करोड़ रुपये की संपत्ति, जबकि छाबड़िया की 251 करोड़ रुपये की संपत्ति को कुर्क करने के लिए मंगलवार को एक अस्थायी आदेश जारी किया था. ईडी और केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) इस मामले की जांच कर रही हैं. दोनों केंद्रीय एजेंसियों ने दो बिल्डर, येस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर और डीएचएफएल के प्रमोटर-निदेशक कपिल वधावन और धीरज वधावन के खिलाफ अलग-अलग मामला दर्ज किया है.

Modi Cabinet: गन्ना किसानों के लिए अच्छी खबर, मोदी कैबिनेट ने FRP 15 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया

ईडी ने राणा कपूर पर लगाया आरोप
इस मामले में जहां कपिल वधावन और धीरज वधावन को ईडी ने मई में गिरफ्तार किया था, जबकि राणा कपूर को मार्च में गिरफ्तार किया गया था. ये दोनों भी अभी न्यायिक हिरासत में हैं. ईडी ने आरोप लगाया कि राणा कपूर ने येस बैंक लिमिटेड के माध्यम से डीएचएफएल के अल्पकालिक गैर-परिवर्तनीय ‘डिबेंचर’ में 3,700 करोड़ रुपये और डीएचएफएल के ‘मसाला बॉन्ड’ में 283 करोड़ रुपये का निवेश किया. वहीं प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि इस नई कुर्की के साथ, कुल 1,827 करोड़ रुपये कुर्क हो गए हैं.

महबूबा मुफ्ती ने भी बदली ट्विटर DP, जम्मू-कश्मीर के अमान्य हो चुके झंडे के साथ PM मोदी और अपने पिता की लगाई तस्वीर



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.