Delhi Police Commissioner Rakesh Asthana Farewell Program Organised In New Police Lines ANN | Rakesh Asthana Farewell: राकेश अस्थाना की दिल्ली पुलिस से हुई विदाई, बोले


Rakesh Asthana Farewell: दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना का आज विदाई समारोह आयोजित हुआ. रविवार को दिल्ली पुलिस से उनकी विदाई हुई. उनकी जगह 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी संजय अरोड़ा (Sanjay Arora) लेंगे, जो तमिलनाडु काडर के आईपीएस अधिकारी हैं. अपने विदाई समारोह में राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) ने कहा कि उन्हें भी लग रहा था कि उन्हें सेवा विस्तार मिल रहा है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. उनकी काम करने की तमन्ना अभी और है.

उन्होंने कहा कि उनका मन था कि वह दिल्ली पुलिस के लिए और काम करें, लेकिन सर्विस में एक समय रिटायर जरूर होना पड़ता है. उनका एक साल का दिल्ली पुलिस का अनुभव बेहद संतोषजनक रहा. दिल्ली पुलिस के साथ उनका अनुभव सकरात्मक रहा.

कई अहम बदलावों के लिए याद किये जायेंगे अस्थाना

अपने एक साल के कार्यकाल के दौरान राकेश अस्थाना ने दिल्ली पुलिस में कई अहम बदलाव किए, जिनके लिए वे जाने जाएंगे. इतना ही नहीं कुछ चुनौतीपूर्ण मौके भी आए जिसमें उन्होंने हर चुनौती का बखूबी सामना किया. बेशक दिल्ली पुलिस से राकेश अस्थाना की रविवार को विदाई हो गई, लेकिन उनके एक साल का बतौर पुलिस आयुक्त का कार्यकाल याद रखा जाएगा. 

इस दौरान उन्होंने कई बड़े फैसले लिए, जिनमें पीसीआर यूनिट को पुलिस थानों में मिलाना हो. सालों से प्रमोशन की बांट जोह रहे हजारों पुलिसकर्मियों को तरक्की देना आदि. उनके कार्यकाल में ही ऐसे कई पुलिस इंस्पेक्टरों को भी एसएचओ बनने का अवसर मिला, जो वर्षों से इस कुर्सी के लिए अपनी बारी के आने का इंतजार कर रहे थे. एक साल के कार्यकाल में राकेश अस्थाना ने दिल्ली पुलिस के सिस्टम में काफी बदलाव किए.

महिला सशक्तिकरण के लिए किया काम 

उनके कार्यकाल में ही दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कई जिलों की कमान महिला डीसीपी को सौंपी. वहीं बड़ी संख्या में महिला इंस्पेक्टर को एसएचओ का कार्यभार भी सौंपा गया. पुलिस मुख्यालय में 17वीं मंजिल पर ऑफिस ले जाने का उनका मकसद पूरी दिल्ली को देखना था. राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana) ने कहा कि दूसरे कैडर से होने के बावजूद उन्हें दिल्ली पुलिस में पूरा सहयोग मिला. पहले कई लोगों को लग रहा था कि मैं सफल हो पाऊंगा या नहीं. उन्होंने कहा कि दिल्ली (Delhi) काफी चुनौतीपूर्ण जगह है.

ये भी पढ़ें- 

Sanjay Arora Profile: कौन हैं संजय अरोड़ा जो बने दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर? वीरप्पन गैंग के खिलाफ हासिल की थी सफलता

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों से मांगा सुविधा और सेवा पर फीडबैक, सर्वेक्षण में शामिल होने की ये है तारीख



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.