Delhi Monkeypox Detected CM Arvind Kejriwal Said Patient Stable And Recovering No Need To Panic | Delhi: मंकीपॉक्स का पहला केस मिलने पर बोले CM केजरीवाल


Arvind Kejriwal on Monkeypox: दिल्ली में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आने के बाद लोगों में डर का माहौल बन गया है. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा है कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है. दिल्ली के सीएम ने कहा कि मंकीपॉक्स (Monkeypox) से संक्रमित मरीज स्थिर है और ठीक हो रहा है. घबराने की जरूरत नहीं है और स्थिति नियंत्रण में है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आगे बताया कि हमने एलएनजेपी (LNJP) में अलग आइसोलेशन वार्ड बनाया है. हमारी सबसे अच्छी टीम दिल्लीवासियों में मंकीपॉक्स को फैलने से रोकने और उनकी रक्षा करने के लिए है.

बता दें कि दिल्ली में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आया है. 31 साल का शख्स हिमाचल प्रदेश से लौटा था, जिसके बाद उसे बुखार चढ़ा और धीरे-धीरे मंकी पॉक्स के शरीर में लक्षण देखने को मिले. बताया जा रहा है कि मरीज को दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

दिल्ली में मंकीपॉक्स का पहला केस

दिल्ली में स्थिति लोकनायक जय प्रकाश नारायण (LNJP) अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ सुरेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि 31 साल का व्यक्ति मंकीपॉक्स वायरस से संक्रमित मिला है. मरीज की कोई ट्रेवल हिस्ट्री भी नहीं है. देश में मंकीपॉक्स का ये चौथा केस सामने आया है. वहीं बिना किसी ट्रेवल हिस्ट्री के किसी के संक्रमित होने का देश में ये पहला केस बताया जा रहा है.

केरल में आए तीन मामले

देश में मंकीपॉक्स संक्रमण का पहला मामला यूएई से एक शख्स के केरल लौटने के बाद 14 जुलाई को सामने आया था. जिसके बाद मरीज को तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया. 18 जुलाई को केरल में ही कन्नूर जिले में मंकीपॉक्स का दूसरा केस सामने आया था. इसी राज्य के मलप्पुरम जिले में मंकीपॉक्स संक्रमण का तीसरा केस दर्ज किया गया था.

दुनिया के 80 देशों में फैला मंकीपॉक्स

दुनियाभर में मंकीपॉक्स (Monkeypox) के तेजी से बढ़ते मामले काफी चिंताजनक हैं. ये वायरस (Monkeypox Virus) अब खतरनाक रूप लेता जा रहा है. विश्व के 80 देशों में अब तक 17 हजार से अधिक केस सामने आ चुके हैं. इस वायरस का सबसे अधिक असर यूरोप के देशों (European Countries) में देखने को मिल रहा है, जहां पर पूरी दुनिया के 80 से 85 फीसदी मामले मिले हैं. यौन संपर्क की वजह से संक्रमण के काफी मामले रिपोर्ट किए गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक मंकीपॉक्स काफी जानलेवा साबित हो सकता है. अब तक इससे 5 लोगों की मौत भी हो चुकी है. 

ये भी पढ़ें:

Monkeypox: दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहे मंकीपॉक्स के मामले, जानिए कितनी खतरनाक है ये बीमारी

Monkeypox Virus: क्या हैं मंकीपॉक्स के लक्षण और कैसे कर सकते हैं इससे बचाव? जानिए एक्सपर्ट से

 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.