Defense Minister Rajnath Singh War Is Fought With The Army Not With Their Citizens Ann


Defence News: दुश्मन देश की सेना से युद्ध होता है उनके आम नागरिकों से नहीं. इसलिए देश में प्रिसेसियन गोला-बारूद की बेहद आवश्यकता है जैसा कि बालाकोट एयर-स्ट्राइक (Balakot Air Strike) के दौरान इस्तेमाल किया गया था. ये मानना है देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) का जिन्होनें हाल ही में पीओके (POK) पर बयान देकर पाकिस्तान (Pakistan) की नींद उड़ा दी है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को राजधानी दिल्ली में दूसरे मिलिट्री-एम्युनेशन कान्फ्रेंस, एमो-इंडिया को संबोधित कर रहे थे. उस दौरान स्वदेशी गोला-बारुद की जरुरत पर बोलते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि भविष्य के युद्धों में प्रिसेसियन गाईडेड एम्युनेशन किसी भी हथियार की तरह एक अहम भूमिका निभाएगा.

बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र कर क्या बोले रक्षामंत्री?
कारगिल युद्ध में मूंथो-ढालो बेस पर किए गए हमले और 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकाने पर किए एयर-स्ट्राइक की सफलता का जिक्र करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि स्मार्ट-प्रिसेसियन एम्युनेशन से सिर्फ दुश्मन के सैन्य ठिकानों को ही निशाना बनाया जाता है. आसपास के सिविल-संस्थानों को नुकसान नहीं पहुंचता है.

उन्होनें कहा कि युद्ध-क्षेत्र में ये गोला-बारूद का नया अवतार है. इस तरह के गोला-बारूद को एक बार प्रोग्राम करने से आटो मैटेकली कोर्स-करेक्शन कर सकता है और सही समय पर सही जगह पर जाकर ही निशाना लगाता है. राजनाथ सिंह ने कहा कि पारंपरिक गोला-बारूद में ऐसा नहीं होता है. पहले के समय में एम्युनेशन का साइज और उसमें भरा हुआ बारूद ज्यादा मायने रखता था. लेकिन अब गोला-बारूद की स्मार्टनेस ज्यादा महत्वपूर्ण होती है.

सामाजिक-आर्थिक विकास से भी जुड़ा है एम्युनेशन-रक्षामंत्री राजनाथ
रक्षा मंत्री ने कहा कि किसी भी देश की वैज्ञानिक, तकनीकी और आर्थिक विकास उसके हथियार और गोला-बारूद की क्षमता से आंकी जाती है. इसलिए एम्युनेशन का विकास सिर्फ राष्ट्र की सुरक्षा से जुड़ा मामला ही नहीं है बल्कि सामाजिक-आर्थिक विकास से भी जुड़ा है.

राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि भारत को विश्व-शक्ति बनाने के लिए बेहद जरूरी है कि देश में ही स्वदेशी एम्युनेशन का डिजाइन, विकास और उत्पादन हो. रक्षा मंत्री ने प्राईवेट सेक्टर को भी गोला-बारूद बनाने का आह्वान किया ताकि सेनाओं की सैन्य तैयारियां मजबूत की जा सकें. हाल ही में पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर यानि पीओके (POK) पर दिए अपने बयान से राजनाथ सिंह चर्चा में आ गए थे.

2014 के बाद 22 करोड़ मिले आवेदन, सिर्फ 7 लाख 22 हजार युवाओं को मिली नौकरी, केंद्र सरकार ने संसद में बताया

‘महाराष्ट्र पर कब्जा किया, अब झारखंड में कोशिश है लेकिन बंगाल उन्हें हरा देना’, CM ममता बनर्जी का BJP पर बड़ा हमला



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.