Andhra Pradesh YSRCP MP Gorantla Madhav Video Viral: Dy CM Says Action Will Be Taken | Gorintla Madhav’s Viral Video: सांसद गोरंटला माधव का आपत्तिजनक वीडियो वायरल, आंध्र प्रदेश के डिप्टी सीएम बोले


YSR Congress MP Gorantla Madhav Video: वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (YSRCP) के सांसद गोरंटला माधव (Gorantla Madhav) के आपत्तिजनक वीडियो मामले में जांच चल रही है. डिप्टी सीएम नारायण स्वामी ने कहा कि वायरल वीडियो को लेकर सच जल्द सामने आएगा. गोरंटला माधव अगर दोषी पाए तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी.

दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में किसी व्यक्ति को एक महिला के साथ वीडियो कॉल के दौरान अश्लील हरकत करते हुए दिखाया गया है.  कई लोग इस वायरल वीडियो के माध्यम से कह रहे कि यह सांसद गोरंटला माधव हैं.  डिप्टी सीएम नारायण स्वामी ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी का ‘दिशा एक्ट’ के पीछे उद्देश्य महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचारों की जांच करना और उन्हें सुरक्षा उपलब्ध करवाना है. बता दें कि आंध्र प्रदेश दिशा एक्ट, 2019 महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन उत्पीड़न जैसे अन्य अपराधों के लिए सजा देता है. 

दिशा एक्ट की मुख्य बातें

  • बलात्कार के मामले में पर्याप्त सबूत होने पर फांसी की सजा का प्रावधान है
  • बलात्कार के मामलों को सबूत होने पर 21 दिनों के भीतर फैसला सुनाया जाएगा
  • जांच 7 दिनों में और परीक्षण 14 दिनों में पूरा करना होगा
  • महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले यौन अपराधों के लिए आजीवन कारावास की सजा
  • आंध्र प्रदेश के हर जिले में स्पेशल अदालतों की स्थापना

दिशा एक्ट क्यों लाया गया था

आंध्र प्रदेश के हैदराबाद में वेटरनरी डॉक्टर का गैंगरेप और हत्या करने के बाद इसे जगमोहन रेड्डी सरकार ने पास किया था. इसे गृह मंत्री एम. सुचरिता ने विधानसभा में पास किया था. जिसे कि सत्ताधारी दल वाईएसआरसीपी कांग्रेस पार्टी ने क्रांतिकारी बताया था. हैदराबाद पुलिस गैंगरेप केस की पीड़िता ‘दिशा’ नाम दिया था, इसी कारण इसे दिशा एक्ट नाम दिया गया था.

यह भी पढ़ें-

JDU के ‘सर्च ऑपरेशन’ में पकड़े गए RCP सिंह! परिवार ने 9 साल में खरीदे 58 प्लॉट, पत्नी के नाम के साथ भी हेरफर

Watch: 12 साल के बच्चे ने प्लास्टिक की बोतल को माइक बनाकर की रिपोर्टिंग और खोल दी स्कूल की पोल, Video Viral



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.