3 People Were Washed Away In The Flash Floods In Kathua District Out Of Which 2 Are Feared To Reach Pakistan ANN


Heavy Rain in Kathua: जम्मू (Jammu) के कठुआ जिले (Kathua District) में रविवार को आई अचानक बाढ़ में बहे 3 लोगों में से 2 के बह कर पाकिस्तान (Pakistan) जाने की आशंका जताई जा रही है, जिसके बाद अब बीएसएफ (BSF) पाकिस्तानी रेंजर्स (Pakistani Rangers) के साथ संपर्क कर इन बहे लोगों का पता लगाएगी. वहीं कठुआ जिले में प्रशासन (Kathua District Adminstration) ने पिछले 3 दिनों में अब तक 25 लोगों को बाढ़ से बचाया है. शनिवार और रविवार की रात से जम्मू समेत सांबा और कठुआ में बारिश ने जो प्रकोप बरसाया उससे यहां के लोग अब तक नहीं उबर पाए हैं. 

बारिश में सबसे ज्यादा कहर जम्मू के कठुआ जिले में बरपाया जहां पर 2 बच्चों समेत तीन लोगों की मौत हो गई जबकि बारिश के पानी में बहने से दो लोगों का अब तक पता नहीं चल पाया है. दरअसल रविवार को हुई तेज बारिश मे कठुआ के अधिकतर नाले उफान पर थे. रविवार को ही कठुआ से होते हुए पाकिस्तान बहने वाले तरनाह नाले में अचानक बाढ़ आ गई जिससे यहां काम कर रहे तीन लोग अपने ट्रैक्टर समेत इस बाढ़ की चपेट में आ गए. 

भारी बारिश की वजह से ट्रैक्टर सहित 3 लोग बहे
इस नाले में पानी का बहाव इतना ज्यादा था कि यह तीनों लोग ट्रैक्टर समेत पानी में बह गए जिसमें से एक शख्स का शव सर्च ऑपरेशन में काफी समय बाद मिला लेकिन बाकी बहे दो लोगो का अब तक पता नहीं चल पाया है. कठुआ के एसएसपी आरसी कोतवाल के मुताबिक इन दोनों वह लोगों की तलाश के लिए तरनाह नाले और इसके आसपास के इलाकों में व्यापक सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.
 
पाकिस्तानी रेंजर्स से भी हो रही बात
इसके साथ ही उन्होंने आशंका जताई कि यह दोनों लोग बैठकर पाकिस्तान (Pakistan) भी बह कर जा सकते हैं जिसके लिए जिला पुलिस ने बीएसएफ (BSF) से बात करके पाकिस्तानी रेंजर्स (Pakistani Rangers) से संपर्क साधा है ताकि इन दोनों भाई लोगों का पता लगाया जा सके. इसके पहले गुरुवार को भी जम्मू (Jammu) के रामबन जिले (Ramban District) में भारी बारिश (Heavy Rain) की वजह से जमीन धंसने की खबरें आईं थी जिसकी वजह से वहां के स्कूलों में छुट्टी करवा दी गई थी. इस बारिश की वजह से चिनाब नदी का जलस्तर अचानक से बढ़ गया था और पानी खतरे के निशान से 35 फुट ऊपर चला गया था. 

यह भी पढ़ेंः 

Bengal SSC Scam: अर्पिता मुखर्जी के पास मिले कैश को लेकर बोले पार्थ चटर्जी, ‘पैसे मेरे नहीं हैं’

Explained: बंगाल से महाराष्ट्र तक ED छापेमारी की चर्चा, जानें प्रवर्तन निदेशालय का इतिहास, ताकत और अधिकार



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.