3.80 Lakh Hectare Crop Affected By Heavy Rains In Maharashtra 46 People Death


Maharashtra Heavy Rain: देश के ज्यादातर हिस्सों में इस साल हुई भारी बारिश (Heavy Rain) के कारण जहां बाढ़ (Flood) के हालात देखे गए, वहीं भारी बारिश के कारण कई राज्यों में फसल (Crop) भी बर्बाद हो गई. बताया जा रहा है कि इस मानसून (Monsoon) में अधिक बारिश से महाराष्ट्र (Maharashtra) के मराठवाड़ा (Marathwada) के 182 सर्कल प्रभावित हुए हैं. वहीं बारिश से संबंधित घटनाओं में 46 लोगों की जान चली गई है.

एक रिपोर्ट के अनुसार जानकारी मिल रही है कि इस साल अब तक हुई भारी बारिश और बाढ़ के कारण महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में छह लाख से अधिक किसान प्रभावित हुए हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि किसानों के स्वामित्व वाली लगभग 3.80 लाख हेक्टेयर भूमि की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है.

राजस्व विभाग की टीम ने किया सर्वे

रिपोर्ट के मुताबिक बताया गया है कि औरंगाबाद, बीड, हिंगोली, जालना, लातूर, नांदेड़, उस्मानाबाद और परभणी सहित मराठवाड़ा क्षेत्र में बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 46 लोगों की मौत भी हुई है. फिलहाल एक अधिकारी के अनुसार राजस्व विभाग की टीम की ओर से 1,73,717 हेक्टेयर भूमि का सर्वेक्षण पूरा कर लिया गया है. जो की कुल प्रभावित क्षेत्र का 45.85 प्रतिशत है.

मराठवाड़ा क्षेत्र में हुई 462.3 मिमी बारिश 

मौसम विभाग के अनुसार बताया गया है कि महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में इस साल अब तक 462.3 मिमी बारिश हुई है. जबकि यहां का औसत 296.2 मिमी है. राजस्व विभाग की टीम की रिपोर्ट के अनुसार नांदेड़ सबसे अधिक प्रभावित जिला रहा, यहां भारी बारिश के कारण 2,98,861.19 हेक्टेयर भूमि प्रभावित हुई.

6.23 लाख किसान हुए प्रभावित

रिपोर्ट के अनुसार बताया गया है कि मराठवाड़ा (Marathwada) क्षेत्र के आठ जिलों में अधिक बारिश (Heavy Rain) और बाढ़ (Flood) के कारण 3,78,866.19 हेक्टेयर भूमि के 6.23 लाख किसान (Farmer) प्रभावित हुए. इस रिपोर्ट के अनुसार मराठवाड़ा क्षेत्र में बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 660 जानवर मारे गए.

इसे भी पढ़ेंः
DGCA Action: SpiceJet पर डीजीसीए की बड़ी कार्रवाई, 50 फीसदी उड़ानों पर 8 हफ्ते के लिए रोक

Commonwealth Games 2022: ओलंपिक मेडल विजेता पीवी सिंधु ओपनिंग सेरेमनी में होंगी ध्वजवाहक, लगातार दूसरी बार मिली जिम्मेदारी



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.